पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सांसद ने कहा था-7 दिन में पूरा होगा काम:ऑक्सीजन प्लांट जिस एजेंसी को लगाना है उसके पास जुलाई से पहले फुर्सत ही नहीं

खरगोन8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • एजेंसी ने ले रखा है प्रदेश में एकसाथ 30 प्लांट का काम

खरगोन व महेश्वर में ऑक्सीजन प्लांट की तैयारी डेढ़ माह बाद बराबर स्थिति में है। जिला मुख्यालय पर कोरोना प्रभारी मंत्री हरदीपसिंह डंग, सांसद गजेंद्र पटेल व कलेक्टर अनुग्रहा पी की अगुवाई में 7 दिन में ऑक्सीजन प्लांट लगा देने का दावा किया गया था। सांसद ने भी इस काम को प्राथमिकता में लेकर पूरा कराने के लिए जवाबदारी ली थी। लेकिन बाद जिला अस्पताल परिसर में ऑक्सीजन प्लांट का शेड डलने व सेंट्रल लाइन डलने के अलावा काम बंद है। मशीनों का इंतजार है। जिस एजेंसी को वर्क ऑर्डर दिया गया उसके पास प्रदेश में 30 जगह ऑक्सीजन प्लांट लगाने का काम है। यूं तो एक प्लांट में औसत 2-3 दिन लगते हैं। फिर भी कम से कम 60 दिन का समय चाहिए। इंजीनियरों की बातचीत से पता चला है कि जुलाई में खरगोन जिले का नंबर आ सकता है। इस एक माह में आशंका है कि तीसरी लहर में यदि बच्चे संक्रमित होते हैं तो उन्हें ऑक्सीजन सपोर्ट देना मुश्किल होगा।

हालात... शेड के पास वाहन पार्किंग क्भी की जा रही है
ऑक्सीजन प्लांट के शेड का दिन में यात्री प्रतीक्षालय की तरह इस्तेमाल हो रहा है। यहां मेटरनिटी वार्ड व ब्लड बैंक हैं। इसलिए मरीज के परिजन व स्टाफ के दोपहिया व चार पहिया वाहन भी यहां खड़े किए जा रहे हैं। दु:ख की बात है कि शेड के भीतर रात में शराब पी जाने लगी है। शराब की कई खाली बोतल परिसर में पड़ी है।

खबरें और भी हैं...