पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

आकस्मिक जांच:गर्भवती को 30 मिनट बाद डॉक्टर ने किया अटेंड

खरगोनएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • अपर व संयुक्त कलेक्टर ने की मेटरनिटी वार्ड की 24 घंटे में 2 बार जांच, ओटी पर मिला ताला

घोट्या गांव की एक महिला के नवजात की प्रसव के दौरान मौत की घटना के बाद जांच के लिए जिला अस्पताल के मेटरनिटी वार्ड का अपर कलेक्टर बीएस सोलंकी व संयुक्त कलेक्टर अनुकूल जैन ने आकस्मिक निरीक्षण किया। 24 घंटे में दो बार व्यवस्थाएं जांची। डिलेवरी कक्ष, ऑपरेशन थियेटर और ब्लड बैंक की व्यवस्थाओं के संबंध में जानकारी जुटाई। दोनों अफसरों ने मंगलवार रात 11 बजे से 1 बजे तक निरीक्षण किया। उसके बाद बुधवार सुबह वार्ड पहुंचकर स्वास्थ्य सेवाओं की जांच की। रात को जब अफसर पहुंचे तो गर्भवती व नवजातों को देखने वाला कोई भी नहीं मिला। दोनों अफसर जब पहुंचे तब कसरावद की गर्भवती अमृता बादल लेबर पेन से तड़प रही थी। ड्यूटी डॉक्टर नहीं थे। स्टाफ नर्स से अफसरों ने मोबाइल लगवाया। रिसीव नहीं किया। बाद में डॉक्टर सारिका पटेल व डॉ महेंद्र बड़ोले 30 मिनट बाद पहुंचे। दोनों डॉक्टर अस्पताल परिसर में 50 मीटर की दूरी पर ही सरकारी आवास हैं। मोबाइल साइलेंट मोड में होना बताया गया। उसके बाद गर्भवती को खून की बाटल चढ़ाई गई। कलेक्टर अनुग्रहा पी ने पिछले दिनों नवजात की मौत मामले में गठित अपर कलेक्टर व संयुक्त कलेक्टर के जांच दल को जिला अस्पताल के मेटरनिटी वार्ड में आकस्मिक निरीक्षण के लिए निर्देश दिए थे।

जानकारी नहीं मिल पाती : 14 और 22 अक्टूबर से ड्यूटी बोर्ड अपडेट नहीं
अफसरों ने मेटरनिटी वार्ड में ड्यूटी डॉक्टरों के दो बोर्ड देखे। एक ओपीडी व दूसरा मेटरनिटी वार्ड का। एक का 14 अक्टूबर व दूसरे का 22 अक्टूबर से अपडेट नहीं किया गया। यह भ्रम की स्थिति थी कि किस डॉक्टर की कब ड्यूटी है। यहां के स्टॉफ से जानकारी जुटाने पर पता चला कि रात में इमरजेंसी के लिए एक डॉक्टर की ड्यूटी लगाई जाती है। इसके बावजूद घर जाकर सो जाते हैं।

कलेक्टर से बोले डॉक्टर : सही ड्यूटी करते है कोई लापरवाही नहीं करते
इंडियन मेडिकल एसो. के नेतृत्व में डॉक्टरों के एक दल ने बुधवार शाम को कलेक्टर से मुलाकात की। इसमें 21 अक्टूबर की रात को घोट्या की पूजा सावन पाटीदार के नवजात की मौत मामले में अपना पक्ष रखा। प्रतिनिधियों का कहना था कि मेटरनिटी वार्ड में डॉक्टर सही ड्यूटी करते हैं। इलाज में किसी भी तरह की कोई लापरवाही नहीं बरती जाती है। डॉक्टरों पर कार्रवाई नहीं होना चाहिए।

मिली लापरवाही
{रात में इमरजेंसी ड्यूटी में डॉक्टर की तैनाती नहीं
{ डॉक्टर बोर्ड रोस्टर के अनुकूल नहीं मिले
{ डॉक्टर की ड्यूटी टाइम टेबल नहीं मिला
{ऑपरेशन थियेटर पर ताला, प्रभारी गायब
{ कक्ष में गंदगी फैली मिली, काफी परिजन थे

डेमो : इमरजेंसी मरीज को अटेंड करने में लग गए 20 मिनट
दोनों अफसरों ने इमरजेंसी किसी मरीज को इलाज उपलब्ध कराने व ऑपरेशन थियेटर ले जाने में स्वास्थ्य सेवा का आकलन किया। इसके लिए डेमो के माध्यम से गतिविधियाें व कर्मचारी-डॉक्टरों की सक्रियता परखी। अफसर जब ऑपरेशन थियेटर तक पहुंचे तो वहां ताला लगा हुआ था। प्रभारी को कॉल कर बुलाया गया। वे 20 मिनट बाद पहुंचे। उन्हें 24 घंटे ड्यूटी पर रहने को कहा गया।
नवजात की मौत का मामला
घोट्या की पूजा पति सावन पाटीदार के नवजात की मौत के मामले में परिजन ने स्टाफ नर्स व ड्यूटी डॉक्टरों पर लापरवाही के आरोप लगाए थे। परिजन समाज के लोगों के साथ मिलकर डॉ महेंद्र बड़ोले व डॉ इंदिरा गुप्ता की इलाज में लापरवाही को लेकर आंदोलन किया। 2 स्टाफ नर्स को नोटिस दिया। डॉक्टरों की जांच चल रही है।
^आकस्मिक जांच में ड्यूटी डॉक्टरों की लापरवाही मिली है। जांच रिपोर्ट व नवजात की मौत की रिपोर्ट कमिश्नर को भेजी जाएगी। - अनुग्रहा पी, कलेक्टर खरगोन

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज भविष्य को लेकर कुछ योजनाएं क्रियान्वित होंगी। ईश्वर के आशीर्वाद से आप उपलब्धियां भी हासिल कर लेंगे। अभी का किया हुआ परिश्रम आगे चलकर लाभ देगा। प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहे लोगों के ल...

और पढ़ें