पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

हैवानियत की हदें पार:जिन नाबालिग दोस्तों को सौंपी सुरक्षा की जिम्मेदारी, वे ही निकले हैवान

खरगोन2 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • महाराष्ट्र के रावेर में गढ़ी के 4 बच्चों की हत्या के मामले का खुलासा

महाराष्ट्र के जलगांव जिले की रावेर तहसील के बोरखेड़ा गांव में खरगोन जिले के गढ़ी निवासी चार नाबालिगों की हत्या के मामले में पुलिस ने 3 आरोपियों को गिरफ्तार किया है। ये आरोपी मृतक बच्चों के बड़े भाई के दोस्त हैं। इन्हें छोटे भाई-बहनों की देखरेख की जवाबदारी सौंपी थी। आरोपियों ने जुर्म कुबूल करने के साथ-साथ चौंकाने वाले खुलासे किए। आरोपियों ने पहले 14 साल की लड़की से दुष्कर्म की कोशिश की। विरोध करने पर उसके तीन भाई बहनों को कुल्हाड़ी से काट डाला। इसके बाद उस लड़की से दुष्कर्म किया और बाद में उसे भी कुल्हाड़ी से काट डाला। पुलिस के मुताबिक सभी आरोपी 21 से 23 साल के हैं। बच्चों के माता-पिता किसी काम से अपने गृह राज्य मध्य प्रदेश गए हुए थे। पीड़ित परिवार यहां खेतों में मजदूरी का काम करता था। पुलिस ने आरोपियों की तलाश खोजी कुत्तों की मदद से की। खून से सनी कुल्हाड़ी की गंध के आधार पर खोजी कुत्ते पुलिस को रावेर तहसील के एक लॉज में लेकर गए। वहां एक संदिग्ध आरोपी मिला। इसके बाद पुलिस ने 5 लोगों को अपनी हिरासत में लिया। इन 5 लोगों में से 3 लोगों ने अपना जुर्म स्वीकार किया है।

आरोपियों ने ऐसे की वारदात
पुलिस सूत्रों के अनुसार घटना इस प्रकार घटी। रात को जब बच्चे सो रहे थे, तब आरोपियों ने खिड़की तोड़कर उनके घर में प्रवेश किया और 14 वर्षीय लड़की के साथ बलात्कार करने की कोशिश की। इसी बीच बाकी भाई बहन की नींद टूट गई और वे बीच-बचाव करने लगे। आरोपियों ने एक-एक करके तीनों भाई-बहनों को मारा और फिर बारी-बारी से 14 वर्ष की लड़की के साथ बलात्कार किया। बलात्कार के बाद आरोपियों ने उसकी भी हत्या कर दी और फरार हो गए।

आरोपियों तक ऐसे पहुंची पुलिस
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, इस जांच में ‘जंजीर’ नाम के कुत्ते से बहुत मदद मिली है। डॉग स्क्वाड से जुड़े इस कुत्ते को वारदात में इस्तेमाल कुल्हाड़ी सुंघाई गई और इसकी निशानदेही पर पुलिस की टीम रावेर-बरहानपुर मार्ग पर स्थित एक लॉज तक पहुंची। यहां से पुलिस ने पांच लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू की और इनमें से तीन ने अपना गुनाह कबूल कर लिया। इस मामले को लेकर पुलिस रविवार को एक प्रेस कांफ्रेंस कर सकती है।

गृहमंत्री, विधायक व कलेक्टर ने दिलाया मदद का भरोसा
जलगांव मेडिकल कॉलेज में पोस्टमार्टम के बाद शनिवार दोपहर शवों को रावेर लाया। अर्थी नहीं सजाई गई। शव वाहन में अंतिम कार्यक्रम से पहले की प्रक्रिया अपनाई गई। बच्चों के परिजनों व पैतृक गांव से पहुंचे लोगों ने पूछताछ के लिए ले जाए गए बड़े बेटे को बुलवाने की मांग की। उसको नहीं लाने पर धरने पर बैठ गए व नारेबाजी की। करीब 20 मिनट बाद उसके पहुंचने पर शवों को दफनाया। अंतिम संस्कार के बाद महाराष्ट्र के गृहमंत्री अनिल देशमुख, यावल-रावेर विधायक शिरिष चौधरी, भाजपा नेता एकनाथ खड़से, कलेक्टर अभिजीत राउत आदि परिजनों से मिले। आरोपियों पर कार्रवाई व आर्थिक सहायता की मांग पर हरसंभव मदद का भरोसा दिलाया।

भाईयों के जागने पर कर दी सभी की हत्या
पुलिस सूत्राें के अनुसार जिन लोगों को बच्चों की जवाबदारी सौंपी थी उन्होंने शराब पी। जब वे झोपड़ी में पहुंचे तो नीयत बिगड़ गई। 14 वर्षीय लड़की से दुष्कर्म किया। छोटी बहन व 2 भाइयों के जागने पर उनकी हत्या कर भाग निकले।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज परिवार के साथ किसी धार्मिक स्थल पर जाने का प्रोग्राम बन सकता है। साथ ही आराम तथा आमोद-प्रमोद संबंधी कार्यक्रमों में भी समय व्यतीत होगा। संतान को कोई उपलब्धि मिलने से घर में खुशी भरा माहौल ...

और पढ़ें