रोहिणी की दस्तक / गुजरात व राजस्थान की गर्म हवा ने 45.2 डिग्री तापमान से तपाया

Warmer air of Gujarat and Rajasthan heat up to 45.2 degree temperature
X
Warmer air of Gujarat and Rajasthan heat up to 45.2 degree temperature

  • सीजन का सबसे ज्यादा गर्मी दर्ज, लू भी चली, न्यूनतम तापमान 24.6 डिग्री हुआ दर्ज

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 05:00 AM IST

खरगोन. सड़कों पर वाहनों की कमी से प्रदूषण घटने से इस साल गर्मी रोहिणी नक्षत्र की शुरुआत में तेज हुई है। शुक्रवार को गुजरात व राजस्थान की ओर से आ रही हवाओं ने तपाया। रोहिणी नक्षत्र शनिवार से शुरू हो रहा है। इसके ठीक पहले 45.2 डिग्री की गर्मी गिरी। यह इस साल का सबसे ज्यादा तापमान है। पिछले 24 घंटे में 0.2 डिग्री की बढ़ोतरी हुई। न्यूनतम तापमान 24.6 डिग्री दर्ज हुआ। पिछले साल 28 अप्रैल को यहां 47 डिग्री तक पारा पहुंचा था। इस साल मई में ही 45 डिग्री तक पारा गया था। मौसम वैज्ञानिक भी मानते हैं लॉकडाउन की वजह से वातावरण शुद्ध हुआ इसलिए दो डिग्री तक तापमान बीते साल के मुकाबले घटा है। फिर भी खरगोन प्रदेश के गर्म शहरों में शामिल है। मौसम वैज्ञानिक जीडी मिश्रा के मुताबिक गर्मी के सीजन के 80 दिनाें में अब तक एक बार भी लू (हीटवेव) जैसे हालात नहीं बने। रोहिणी नक्षत्र की शुरुआत के साथ लू भी खरगोन में चली है।
जानिए... ये हैं तीन कारण जिससे बढ़ने लगी गर्मी
 एक : देश के पश्चिमी हिस्से गुजरात व राजस्थान की शुष्क हवा क्षेत्र में आ रही है। 
 दो : पथरीला क्षेत्र हाेने के कारण यहां गर्म हवाएं चट्‌टानों से टकराकर लू बन रही है।
 तीन : इस क्षेत्र में सूर्य की किरणें ज्यादा समय तक सीधी गिरने के कारण ऐसे हालत है।
परेशानी... जलाशयों का तेजी से घटा जलस्तर 
गर्मी के कारण शहरी क्षेत्र में पेयजल छुड़वाने की स्थिति बनी है। देजला देवाड़ा व खारक जलाशयों का जलस्तर तेजी से घटा है। देजला देवाड़ा जलाशय में 6 एमसीएम पानी है। यह पानी खारक जलाशय में खरगोन नगर पालिका के रिजर्व पेयजल के अलावा पानी है। फिलहाल खारक से पेयजल आपूर्ति हो रही है।
राजस्थान व गुजरात की गर्म हवा लू का रूप ले लिया। अगले 4 दिन तक ऐसे ही हालात रहने के आसार हैं।   
-जीडी मिश्रा, मौसम वैज्ञानिक भोपाल

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना