सरकारी खरीदी:250 से ज्यादा किसानों से खरीदा गेहूं-चना, खातों में नहीं पहुंची राशि, लगा रहे चक्कर

खरगोन8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • कर्ज चुकाने व गणगौर के लिए जरुरत, प्रबंधक बोले- समस्या बताई है

समर्थन मूल्य पर गेहूं व चना की खरीदी की जा रही है। पिछले 15 दिन में नगर के दो केंद्र पर ही 250 से ज्यादा किसानों से उपज खरीदी गई है लेकिन किसानों के खातों में राशि जमा नहीं हो पा रही है। गणगौर पर्व और कर्ज चुकाने के लिए किसान समितियों के चक्कर लगा रहे हैं। यहां प्रबंधक आगे से राशि जारी नहीं होने व साॅफ्टवेयर में तकनीकी खराबी होने की बात कह रहे हैं। किसानों का कहना है मैसेज मिलने पर ही उपज को समर्थन मूल्य में बेचा था लेकिन एक भी किसान के खाते में राशि जमा नहीं की गई है। गणगौर पर्व चल रहा है। रुपयों की जरुरत है। कुछ किसानों ने समितियों में दूसरों से उधार लेकर राशि जमा करवाई है। वह चुकाना है। किसानों के खातों में उपज की राशि जल्द जमा होना चाहिए। नगर के सेवा सहकारी केंद्र पर अब तक 2968 क्विंटल गेहूं व 570 क्विंटल चना की खरीदी हुई है। वहीं देवश्री विपणन सहकारी संस्था केंद्र पर 28 किसानों से 626 क्विंटल गेहूं और चना खरीदी के 2 केंद्र पर 124 किसानों से 1401 क्विंटल चना खरीदी गया है।

बीमारी से परेशान, आर्थिक कमर भी टूटी
नगर के किसान दिलीप नाथूलाल व गोपालपुरा के हिरदाराम तोताराम ने बताया 27 मार्च से समर्थन मूल्य पर गेहूं-चना खरीदी शुरू की गई है। लेकिन राशि जमा नहीं हो रही है। समस्या बताने के बाद भी कोई प्रयास नहीं हो रहे है। किसानों का कहना है कोरोना संक्रमण के चलते मानसिक रूप से पहले ही परेशान है। गेहूं-चना उपज की राशि जमा नहीं होने से आर्थिक रूप से भी परेशान होना पड़ रहा है। यदि पहले पता होता तो समर्थन मूल्य की बजाय मंडी में उपज बेचते। उपज की राशि तो समय पर मिल जाती। सेवा सहकारी समिति प्रबंधक रामकृष्ण पाटीदार व देवश्री मार्केटिंग संस्था प्रबंधक मोहन मालाकार ने बताया आगे से ही राशि जमा नहीं हो रही है। किसान बार-बार केंद्र पर आ रहे हैं। वरिष्ठ अधिकारियों को समस्या बता चुके है।

मौसम बदलने से परिवहन की चिंता
दो दिन से मौसम बदला हुआ है। मौसम वैज्ञानिक बारिश की आशंका जता रहे है। इसे देखते हुए खरीदी केंद्र प्रभारी उपज का सुरक्षित भंडारण व परिवहन करने में जुटे हुए है। बारिश से खरीदी उपज को बचाने के लिए शेड में रखवाया जा रहा है। शनिवार व रविवार को खरीदी बंद रही। सोमवार से केंद्रों पर खरीदी की शुरुआत होगी। नई आवक के लिए भी व्यवस्था जुटाना पड़ रही है।

बामंदी : 4364 क्विंटल गेहूं खरीदी, रोजाना परिवहन भी

बामंदी | साटक तालाब स्थित गेहूं उपार्जन केंद्र पर गेहूं की खरीदी जारी है। क्षेत्र के किसान अपनी उपज केंद्र पर लाने में रुचि दिखा रहे है। केंद्र के राहुल सालवे के अनुसार अब तक 132 किसानों से 4364 क्विंटल गेहूं खरीदा जा चुका है। 40 किसानों के खाते में लगभग 11 लाख से अधिक राशि भी जमा हो चुकी है। सहायक प्रबंधक जितेंद्र जायसवाल के अनुसार रोजाना 2 से 3 ट्रक गेहूं भरकर निमरानी वेयरहाउस पहुंचाया जा रहा है। इससे मौसम खराब होने पर भी कोई दिक्कत नहीं आएगी। केंद्र पर गेहूं को हवा-पानी से बचाने के पर्याप्त साधन मौजूद है।

खबरें और भी हैं...