पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

स्वतंत्र जांच:बोरबन तालाब पीड़ितों से मिलने पहुंचे कांग्रेसी नेता, विस में उठवाएंगे मामला

नेपानगर13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
पीड़ितों के साथ तालाब के पास खड़े कांग्रेस नेता। - Dainik Bhaskar
पीड़ितों के साथ तालाब के पास खड़े कांग्रेस नेता।
  • पीड़ितों ने बताई पीड़ा- दूसरों के नाम से निकाल लिया मुआवजा

खकनार तहसील के ग्राम चौखंडिया में बोरबन तालाब योजना के प्रभावितों के साथ मुआवजा वितरण में किए गए फर्जीवाड़े की पूर्व मुख्यमंत्री और मप्र कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष कमलनाथ कांग्रेस नेताओं से स्वतंत्र जांच करा रहे हैं। इसके तहत रविवार को छह सदस्यीय टीम चौखंडिया पहुंची और पीड़ितों से चर्चा की।

कांग्रेस नेताओं ने पीड़ितों को आश्वासन दिया कि स्थिति से प्रदेश कांग्रेस कार्यालय को अवगत कराने के साथ मामला विधानसभा में भी उठवाया जाएगा। मामले में पिछले दिनों नगर कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष सोहन सैनी के नेतृत्व में नेता फरार चल रहे देड़तलाई निवासी इम्तियाज खान के परिजन से भी मिले थे। पीड़ित रामेश्वर कालू सलामे ने कांग्रेस नेताओं को बताया हमें अब तक मुआवजा नहीं मिला है। हम खुद की जमीन के मालिक होकर भी आज बेरोजगार हो गए। आज तक सत्ता पक्ष का कोई जनप्रतिनिधि हमारे पास नहीं आया। कृषि भूमि पीवत थी। 2 साल पहले मुआवजे के लिए कागज लिए थे।

पहले आपसी विवाद के कारण हमारा मुआवजा रुक गया था। इसका फायदा दूसरों ने उठाया। जितने भी फोटो लगाए गए, वह फर्जी हैं। कागजात पर समतल खेत थे। हमने अपनी ओर से आपत्ति भी दर्ज कराई थी लेकिन कहीं सुनवाई नहीं हुई। हर साल केली की फसल लेते थे। न हमारा आधार कार्ड है न फोटो। एसडीएम कार्यालय से कागज मिले।

बाबूओं से कहा अब तक मुआवजा नहीं मिला तो जवाब मिला तुम्हारा मुआवजा तो कब का निकाल लिया है। हमने कहा किसने निकाला। वो बोले तुमने ही तो निकाला। फिर साबूलाल व उनके परिवार का नाम बताया। हमने कहा यह हमारा ही परिवार है लेकिन मुआवजा किसी को नहीं मिला। दोबारा एसडीएम कार्यालय पहुंचे तो यही जवाब मिला। कागजात देखे तो वह फर्जी थे।

हमारे आधार कार्ड पर लगा दिए दूसरों के फोटो
रामेश्वर ने बताया एक नाम प्यारेलाल कल्लू होना चाहिए था लेकिन उस पर बिहारीलाल रामेश्वर कर दिया। हमारे आधार कार्ड के नंबर पर दूसरे लोगों के नाम व फोटो लगा दिए। बाबूओं को कहा साहब के पास ले चलो। नंबर, जन्म तारीख फोटो मैच नहीं हुई। एसडीएम दीपक चौहान ने कहा तुम पूरे परिवार को लेकर आना लेकिन कोरोना के कारण नहीं जा पाए। बाद में सामाजिक कार्यकर्ता डाॅ. आनंद दीक्षित ने मामला उजागर किया, तब पता चला इसमें फर्जीवाड़ा किया है।
बैंककर्मी और दलालों ने बनाए फर्जी दस्तावेज
नगर कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष सोहन सैनी ने बताया पीड़ितों से बातचीत में पता चला कि कुछ बैंककर्मी, अधिकारी व दलालों ने झूठे आधार कार्ड, पासबुक व अन्य फर्जी दस्तावेज लगाकर फर्जीवाड़ा किया है। उनके खिलाफ जांच होना चाहिए। रामेश्वर सहित एक दर्जन से जयादा पीडि़तों काे मुआवजा नहीं मिला है। जांच टीम में ब्लाक कांग्रेस अध्यक्ष हरीश नारखेड़े, खकनार के कांग्रेस नेता अजय महाजन, युवक कांग्रेस के मनीष कोल्हे, देड़तलाई के शरद नागले व प्रवक्ता राहुल तायड़े शामिल हैं।

खबरें और भी हैं...