पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

घर-घर हुई मां महालक्ष्मी स्थापना:अनुराधा नक्षत्र में आईं मां महालक्ष्मी, ज्येष्ठ में पूजन, मूल में विसर्जन

नेपानगर15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • नेपानगर सहित आस-पास के महाराष्ट्रीयन परिवारों में घर-घर हुई मां महालक्ष्मी स्थापना

गणेश चतुर्थी के दो दिन बाद रविवार को मां महालक्ष्मी के रूप में ज्येष्ठ गौरी की स्थापना की गई। यह स्थापना अनुराधा नक्षत्र में की गई। ज्येष्ठ नक्षत्र में पूजन होगा और मूल नक्षत्र में विसर्जन किया जाएगा। तीन दिनी मां महालक्ष्मी स्वरूप गौरी पर्व का शुभारंभ रविवार से हुआ। इसे लेकर घरों में पहले से तैयारियां चल रही थी। बाजार में पूजन सामग्री खरीदारी के लिए लोगों जुटे। महालक्ष्मी के मुखौटे, सजावट के लिए गहने सहित अन्य सामग्री खरीदी। सीवल के पंडित राजू जोशी महाराज ने बताया- पंच पकवान का भोग लगाया गया। श्रद्धालुओं ने भक्ति भाव से पूजन किया। कोरोना महामारी से मुक्ति के लिए विशेष पूजन किया जा रहा है। पर्व को लेकर ग्रामीण क्षेत्रों खासा उत्साह रहा। अधिकांश घरों में पीढ़ियों से महालक्ष्मी की स्थापना की जा रही है। नेपानगर के अलावा अंबाड़ा, सारोला, भातखेड़ा, सीवल, चांदनी, नावरा सहित अन्य ग्रामीण क्षेत्रों में यह पर्व की शुरुआत हुई।

यह होगा तीन दिन : पहले दिन रविवार को महालक्ष्मी की विधिवत स्थापना की गई। दूसरे दिन सोमवार को विविध व्यंजनों का भोगल लगाया जाएगा। तीसरे दिन मंगलवार को प्रसादी वितरित की जाएगी। अधिकांश महाराष्ट्रीयन परिवारों में यह पर्व मनाया जाता है। महालक्ष्मी के श्रृंगार, कपड़े, अलंकार, महाभोग को समृद्धि का प्रतीक माना जाता है। इसलिए भक्त पूरी आस्था के साथ इन वस्तुओं को महालक्ष्मी के समक्ष रखते हैं।

खबरें और भी हैं...