पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

रेल रोको आंदोलन में शामिल 41 आरोपियों को मिली जमानत:31 दिसंबर 2020 को हुआ था रेल रोको आंदोलन, 42 पर रेलवे ने दर्ज किया था नामजद केस

नेपानगर7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
फाइल फोटो - Dainik Bhaskar
फाइल फोटो

रेल रोको आंदोलन में शामिल नेपानगर के 41 आरोपियों को खंडवा रेलवे मजिस्ट्रेट वीपी सोलंकी की कोर्ट से जमानत मिल गई है। एक आरोपी गैर जाहिर रहा। नेपानगर रेलवे स्टेशन पर यात्री ट्रेनों के स्टापेज स्थगित करने से नाराज लोगों ने 31 दिसंबर 2020 को रेल रोको आंदोलन किया था। इस दौरान कुछ लोग रेलवे ट्रैक पर जाकर लेट गए थे। इस कारण दिल्ली-मुंबई मार्ग प्रभावित हुआ था।

आरपीएफ ने 42 नामजद आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज किया था। कुछ दिन पहले आरपीएफ से आरोपियों को नोटिस जारी हुए थे। इसमें उन्हें 20 जुलाई 2021 को खंडवा रेलवे मजिस्ट्रेट कोर्ट में बुलाया। मंगलवार को 42 में से 41 आरोपी पहुंचे। एक आरोपी गैर हाजिर रहा। आरोपियों ने कोर्ट के समक्ष अपना पक्ष रखा। सभी 41 आरोपियों को सुनवाई के बाद जमानत दे दी गई। सुनवाई की अगली तारीख 27 जुलाई दी गई है।

आंदोलन के बावजूद अब तक यहां स्थगित ट्रेनों के स्टापेज दोबारा चालू नहीं किया जा सका। यहां अब भी महज दो ही ट्रेनें कुशीनगर एक्सप्रेस और पठानकोट एक्सप्रेस ही रूक रही है। जबकि आठ से अधिक ट्रेनें स्थगित हैं। जिस कारण व्यापार, व्यवसाय पर भी असर पड़ रहा है। छोटे स्टेशनों के यात्री, आमजन, विद्यार्थी, अप डाउनर्स सहित अन्य लोग परेशान हो रहे हैं।

खबरें और भी हैं...