पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

शिकायत:ग्रामीणों ने कहा- राजस्व अफसर लिखते कुछ, मुआवजा कुछ देते

नेपानगर13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
पूर्व मंत्री और नेपानगर विधायक ने अंबाड़ा में केला फसल देखी। नायब तहसीलदार को निर्देश दिए। - Dainik Bhaskar
पूर्व मंत्री और नेपानगर विधायक ने अंबाड़ा में केला फसल देखी। नायब तहसीलदार को निर्देश दिए।
  • विधायक ने किया अंबाड़ा सहित आठ से ज्यादा प्रभावित गांव का दौरा

शनिवार को आंधी-बारिश से प्रभावित नेपानगर क्षेत्र के आठ से ज्यादा गांवों में रविवार को जनप्रतिनिधि और अफसर जायजा लेने पहुंचे। ग्रामीणों ने कहा- राजस्व विभाग सर्वें में लिखता कुछ और मुआवजा कुछ देते है। जनप्रतिनिधियों के हस्तक्षेप के बाद सर्वे में उद्यानिकी और कृषि अफसर भी शामिल करेंगे। प्रारंभिक तौर पर सबसे अधिक नुकसान अंबाड़ा, लिंगा, निम्ना में बता रहे हैं, हालांकि अभी राजस्व विभाग सर्वे में जुटा है। रविवार को पूर्व मंत्री अर्चना चिटनीस, नेपानगर विधायक सुमित्रा देवी कास्डेकर ने अंबाड़ा सहित आसपास के प्रभावित क्षेत्रों का दौरा किया। इस दौरान नायब तहसीलदार परवीन अंसारी, आरआई फिरोज खान, पटवारी पूर्णिमा राठवे सहित अन्य अफसर भी पहुंचें। ग्रामीणों ने कहा- हमें राजस्व विभाग के सर्वे पर भरोसा नहीं है।

यह लिखते कुछ और मुआवजा देते कुछ हैं। इस पर पूर्व मंत्री चिटनीस ने कलेक्टर प्रवीण सिंह से संपर्क किया। चर्चा में कलेक्टर ने अलग से टीम बनाने का आश्वासन दिया। इसमें कृष, उद्यानिकी विभाग के अफसरों को भी शामिल किया जाएगा। ताकि मुआवजे का सही आंकलन किया जा सके। सर्वे में कहीं भी ऐसा नहीं है कि नुकसान होने पर मुआवजा न मिले। चाहे पौधे पर फल लगा हो न हो। मुआवजा मिलना चाहिए।
आंकलन की रिपोर्ट पंचायत में चस्पा करें
पूर्व मंत्री चिटनिस ने नायब तहसीलदार से कहा- यह जवाबदारी आपकी हैं कि सभी को मुआवजा मिले। आंकलन किसान की उपस्थिति में किया जाए। आंकलन की गई रिपोर्ट को पंचायत में चस्पा कर दें। अंबाड़ा क्षेत्र में करीब 500 से अधिक किसानों की केला फसल खराब हुई है।

कुओं से चोरी हो रही केबल
पूर्व जिला पंचायत उपाध्यक्ष अरुण पाटील ने कहा- अंबाड़ा क्षेत्र में कुओं, ट्यूबवेल से केबल चोरी की वारदातें लगातार हो रही हैं। पुलिस आवेदन तो ले लेती है, लेकिन एफआईआर नहीं करती। इस पर पूर्व मंत्री ने एसपी राहुल कुमार लोढा से फोन पर चर्चा की।

भाजपा जिलाध्यक्ष मनोज लधवे, सांसद पुत्र हर्षवर्धनसिंह चौहान ने भी ग्राम निम्ना, बोरी, अंबाड़ा व नसीराबाद में आंधी तूफान से प्रभावित केले की फसल और घरों को हुए नुकसान का जायजा लिया। ग्रामीणों की समस्या जानी और सरकार से मदद दिलाने का आश्वासन दिया। उनके साथ सुजय सिंह चौहान भी उपस्थित थे।

यहां सामने आया है नुकसान
प्रारंभिक तौर पर नसीराबाद, निम्ना, लिंगा, अंबाड़ा, देवरी, नेवरी, बाड़ा जैनाबाद सहित अन्य क्षेत्रों में नुकसान देखा गया है। नुकसानी कहां सबसे ज्यादा हुआ है, यह पटवारियों की रिपोर्ट आने पर पता चलेगा।
नहीं मिलेगा फसल बीमा लाभ
सालभर पहले किसानों ने केला फसल का बीमा प्रीमियम जमा किया था, लेकिन वह बैंकों ने वापस लौटा दिया। ऐसी स्थिति में अब किसानों को फसल बीमा का लाभ नहीं मिलेगा। राजस्व विभाग के आरबीसी कंडिका 6/4 के तहत राहत राशि वितरित की जाएगी। सभी क्षेत्रों में पटवारी सर्वे में जुट गए हैं।

खबरें और भी हैं...