• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Khandwa
  • 12 Thousand Rupees Monthly Recovery From Caterers At Railway Station, GRP Also Included; Fake FIR For Not Giving

खंडवा में RPF एसआई का घुस लेते VIDEO:रेलवे स्टेशन पर केटर्स से 12 हजार रुपए मासिक वसूली, GRP भी शामिल; न देने पर ठोंक देते झूठी FIR

खंडवाएक महीने पहले
केटर्स से रिश्वत लेते हुए आरपीएफ सब इंस्पेक्टर का वायरल वीडियो। - Dainik Bhaskar
केटर्स से रिश्वत लेते हुए आरपीएफ सब इंस्पेक्टर का वायरल वीडियो।

खंडवा रेलवे स्टेशन पर यात्रियों को चाय-पानी और भोजन परोसने वाले केटर्स से रिश्वत लेने का मामला सामने आया है। आरपीएफ के सब इंस्पेक्टर का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है। जिसमें वह एक केटर्स से रुपए ले रहा है। रिश्वत देने वाले कर्मचारी के मैनेजर ने तो रेलवे बोर्ड से शिकायत कर दी। बताया कि आरपीएफ और जीआरपी के अफसर 12 हजार रुपए महीना लेते है। रिश्वत न देने पर हमारे वेंडर पर झूठे मुदकमें ठोंक देते है।

सोशल मीडिया पर जो वीडियो वायरल हो रहा है, उसमें आरपीएफ के सब इंस्पेक्टर राजेंद्र गुर्जर के होने का दावा केटरिंग मैनेजर राजकुमार श्रीवास ने किया है। श्रीवास का कहना है कि, उनके कर्मचारी से एसआई गुर्जर ने रिश्वत ली। जिसका सीसीटीवी फुटेज है। इस फुटेज के आधार पर रेलवे बोर्ड से शिकायत की। जिस पर मुंबई और भुसावल से विजिलेंस की टीम भी आकर पूछताछ करके चली गई। लेकिन अब तक कोई कार्रवाई नहीं हुई। इसलिए मैंने आरपीएफ और जीआरपी अफसरों की करतूतों का वीडियो वायरल कर दिया।

अनुचित दबाव बनाने झूठे केस ठोंकते, सीआर का खेल

शिकायतकर्ता श्रीवास का कहना है कि ठेकेदारों पर अनुचित दबाव बनाने के लिए उनके वेंडर को उठा लिया जाता है। थाने में 15-15 घंटे तक बैठाकर रखते है। झूठी एफआईआर भी दर्ज कर लेते है और एक वेंडर के हिसाब से 4 से 5 हजार रुपए दो एफआईआर फाड देते है। क्योंकि ये लोग सीआर नंबर नहीं डालते है। बस रुपए वसूलने के लिए केस दर्ज किए जाते है।

वायरल वीडियो में हमारा कोई कर्मचारी नहीं है

इधर, आरपीएफ थाना जयसिंह का कहना है कि, जो वीडियो वायरल हो रहा है, उसमें हमारा कोई कर्मचारी नहीं है। थाने का कोई भी सब इंस्पेक्टर या जवान ऐसा नहीं कर सकता। वीडियो में हमें तो कोई यात्री दिख रहा है।

ट्विट कर सुसाइड करने की कह चुका है केटर्स

पीड़ित राजकुमार श्रीवास रेलवे ठेकेदार के पास नौकरी करता है। जिसके पास खंडवा जंक्शन का जिम्मा है, वह यहां मैनेजर के पद पर कार्यरत है। पिछले महीने रेलवे अधिकारियों को ट्वीट करके वीडियो के जरिये अपनी पीड़ा बता चुका है। तब कहा था कि उसे आरपीएफ टीआई जयसिंह समेत कई पुलिस अधिकारी परेशान करते है। ऐसे में वह अपने परिवार के साथ सुसाइड कर लेंगा।

खबरें और भी हैं...