पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

बकायादारों से वसूली:19 करोड़ 41 लाख वसूलना है संपत्ति कर, दो माह पहले बांटे बिल

खंडवाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • नवंबर-दिसंबर में बिल बांटे जाते थे, इस बार ई-नगर पालिका पर अप्रैल में ही मांग लेजर में चढ़ने से निगम ने बिल प्रिंट कर बांटे

संपत्ति कर के बिल नगर निगम ने इस साल दो महीने पहले ही बांट दिए। इससे बकायादारों से वसूली करने में निगम को सुविधा मिल रही है। ऐसे लोग जो पिछले साल संपत्ति कर नहीं जमा कर पाए थे, वे बिल मिलने पर बकाया राशि जमा करने निगम पहुंच रहे हैं। वहीं चालू साल का बिल मिलने पर समय पर बिल भरने वाले लोग भी निगम पहुंच रहे हैं। हर साल निगम नवंबर-दिसंबर में संपत्ति कर के बिल प्रिंट कर बांटता था। इस बार चालू वर्ष की मांग ई-नगर पालिका पर 1 अप्रैल को ही लेजर में चढ़ गई। इस कारण निगम ने भी समय से पहले बिल प्रिंट कर बांट दिए। सामान्य रूप से हर साल संपत्ति कर शहरवासी 31 मार्च तक जमा करते हैं। निगम को कुल 19 करोड 41 लाख रुपए संपत्ति कर वसूलना है। इसमें इस वर्ष की मांग 8 करोड़ 64 लाख रुपए हैं। वहीं पिछला बकाया 10 करोड़ 76 लाख रुपए शामिल हैं। अब तक 1 करोड़ 96 लाख रुपए की वसूली निगम कर चुका है। फिलहाल चार से पांच लाख रुपए रोज करदाताओं द्वारा बकाया राशि निगम काउंटर और सहायक राजस्व निरीक्षकों के पास जमा कराई जा रही है। ^जल्दी बिल जारी करने से लोग समय पर संपत्ति कर जमा कर सकेंगे। जिन लोगों पर पिछला बकाया है, उन्हें बिल जारी होने से सुविधा मिल रही है। वही जिन लोगों का वर्तमान साल का संपत्ति कर हैं, वे हर साल की तरह ही समय पर संपत्ति कर जमा कर सकेंगे। -रामचरण खरे, प्रभारी बाजार अधिकारी

300 से अधिक बिलों में जुड़ गया था अधिभार
संपत्ति के करीब 300 बिलों में पिछले साल के बकाया की राशि का अधिभार भी जुड़ गया था। हर साल 31 मार्च को वित्तीय वर्ष खत्म हो जाता है। कोराना के कारण इस बार जुलाई तक प्रदेश सरकार ने अधिभार माफ कर दिया लेकिन जिन लोगों ने जुलाई में संपत्ति कर जमा किया उनके बिलों में अधिभार जुड़ गया। लोग निगम पहुंचे तो राजस्व विभाग ने लेजर चेक कर सूची बनाकर सुधार के लिए नगरीय प्रशासन को भेज दिया।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- पिछले कुछ समय से आप अपनी आंतरिक ऊर्जा को पहचानने के लिए जो प्रयास कर रहे हैं, उसकी वजह से आपके व्यक्तित्व व स्वभाव में सकारात्मक परिवर्तन आएंगे। दूसरों के दुख-दर्द व तकलीफ में उनकी सहायता के ...

और पढ़ें