पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

व्यवस्था:कोरोना आइसोलेशन भवन में ही बनेगा 15 साल से कम वालों के लिए 20 बेड का पीआईसीयू

खंडवाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जिला अस्पताल के ए-ब्लॉक में कोरोना मरीजों के लिए बना है आइसोलेशन वार्ड। - Dainik Bhaskar
जिला अस्पताल के ए-ब्लॉक में कोरोना मरीजों के लिए बना है आइसोलेशन वार्ड।
  • पीडियाट्रिक आईसीयू में 10 बेड 1 साल व 10 बेड 15 साल तक के बच्चों के लिए होंगे

जिला अस्पताल की आइसोलेशन भवन में ही 15 साल से कम आयु के कोरोना पॉजिटिव मरीजों के लिए 20 बेड का पीडियाट्रिक आईसीयू बनेगा। पीआईसीयू में 0 से एक साल के मरीजों के लिए 10 बेड रहेंगे। बाकी बचे 10 बेड पर 15 साल से कम उम्र वाले गंभीर कोरोना पॉजिटिव मरीजों को भर्ती किया जाएगा। कॉलेज के पीडियाट्रिक विभाग में तीन डॉक्टर सहित 4 सीनियर रेसीडेंट डॉक्टर हैं। जो पीआईसीयू में संक्रमित मरीजों का इलाज करेंगे।

फिलहाल कोरोना पॉजिटिव 15 साल से कम आयु के बच्चों का होम आइसोलेशन में ही डॉक्टर इलाज कर रहे हैं। जिले में अबतक कोरोना पॉजिटिव 3909 मरीज मिले। इसमें 15 साल से कम आयु के संक्रमितों की संख्या 218 से अधिक हैं। हालांकि अस्पताल में कोरोना से पीड़ित नवजात या 15 साल से कम उम्र वाले बच्चों के इलाज के लिए अलग से कोई सुविधा नहीं है। यहां पर न तो पीडियाट्रिक वेंटीलेटर है और न ही बेड व उपकरण है। कॉलेज प्रबंधन दो दिन पहले राज्य सरकार से मिले 10 बेड के पीआईसीयू बनाने निर्देश के बाद हरकत में आया।

कॉलेज प्रबंधन अब 10 की बजाय कोरोना संभावित तीसरी लहर में आने वाले मरीजों की संख्या को ध्यान में रखकर 20 बेड का वार्ड बनाने में जुटा है। गौरतलब है कोरोना के पहले चरण में जब 15 साल से कम उम्र के संक्रमित बच्चों की संख्या बढ़ने लगी तो तत्कालीन कलेक्टर तन्वी सुंद्रियाल ने जिला महामारी विशेषज्ञ डॉ.योगेश शर्मा की पहल पर होम आइसोलेट कर इलाज कराने की अनुमति दी थी। डॉ.शर्मा ने बताया पिछले अप्रैल के आंकड़ों पर नजर डालें तो 25 मरीज मिल चुके हैं। अबतक लगभग 200 से अधिक मरीज कम उम्र के पॉजिटिव मिल चुके हैं।

कॉलेज के नर्सिंग स्टाफ की 60 में से 50 पदों की निकली सूची, भेज रहे ज्वाइनिंग लेटर
इधर, संक्रमण को देखते हुए मेडिकल कॉलेज में स्वीकृत 253 नर्सिंग स्टाफ में से रिक्त 248 पदों पर नियुक्तियां शुरू की गई है। पहले चरण में 62 पदों के लिए आवेदन कॉलेज ने बुलाए थे। इसमें दो पदों पर सरकारी कॉलेज से नर्सिंग का कोर्स करने वाली दो छात्राओं को सीधी भर्ती की गई। जबकि बाकी बचे 60 पदों के लिए व्यापमं के माध्यम से परीक्षा के बाद जारी कट ऑफ लिस्ट से मेरिट के आधार पर पहले 50 पदों की फाइनल सूची निकली। इसमें शामिल स्टाफ को ज्वाइनिंग लेटर भेजा जा रहा है।

20 बेड का बना रहे पीडियाट्रिक आईसीयू
आइसोलेशन बिल्डिंग में ही 15 साल से कम आयु के बच्चों के लिए पीडियाट्रिक आईसीयू बना रहे हैं। इसमें 6 वेंटीलेटर सहित अन्य उपकरणों का मांग पत्र तैयार कर रहे हैं। शासन ने 10 बेड के पीआईसीयू के निर्देश दिए हैं। हम अधिक बेड का वार्ड तैयार कर रहे हैं।
डॉ.अनंत पवार, डीन मेडिकल कॉलेज

खबरें और भी हैं...