शनि जयंती / मुंह पर मास्क बांधकर किया तेल से अभिषेक और जन्म आरती

Abhishek and Janma Aarti done with oil by masking the mouth
X
Abhishek and Janma Aarti done with oil by masking the mouth

  • सोशल डिस्टेंस का पालन करते हुए मनाई शनि जयंती, पहली बार दर्शन के लिए मंदिर में नहीं लगी कतार

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 05:00 AM IST

खंडवा. लॉकडाउन में शहर के सभी प्रमुख मंदिर बंद है। इस दौरान शहर के प्राचीन शनि मंदिर में सोशल डिस्टेंसिंग के साथ शनि जयंती मनाई। क्षेत्र के कुछ श्रद्धालुओं ने मुंह पर मास्क बांधकर भगवान के दर्शन किए। इस दौरान कोरोना मुक्ति के लिए भी प्रार्थना  की। शनिदेव की प्राचीन प्रतिमा पर तेल से अभिषेक किया। आकर्षक शृंगार कर दोपहर 12 बजे जन्म आरती की। मंदिर के पुजारी विशाल नंदकिशोर शर्मा ने बताया कि इसमें सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए क्षेत्र के कुछ श्रद्धालु ही शामिल हुए। शनि देव न्याय के देवता हैं, उन्हें दण्डाधिकारी और कलियुग का न्यायाधीश कहा गया है। शनि शत्रु नहीं बल्कि संसार के सभी जीवों को उनके कर्मों का फल प्रदान करते हैं। वह अच्छे का अच्छा और बुरे का बुरा परिणाम देने वाले ग्रह हैं । शनिदेव पीड़ा और संकट हरने वाले भगवान है जो भी श्रध्दालु इनकी शरण में जाता है उसकी मनोकामना पूरी होती है। 
समाजसेवी सुनील जैन ने बताया कि पौराणिक मान्यताओं के अनुसार ज्येष्ठ अमावस्या पर शनि देव का जन्म हुआ था। इसलिए ज्येष्ठ अमावस्या को शनि जयंती के रूप में भी मनाया जाता है। शुक्रवार को लॉकडाउन के बीच प्राचीन शनि मंदिर में शनि जयंती सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए मनाई गई।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना