• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Khandwa
  • After A Year And A Half, Devotees Will Be Able To Visit The Sanctum Sanctorum; You Will Not Be Able To Offer Coconut, Flower Garland

दादाजी मंदिर में आज शरद पूर्णिमा:डेढ़ साल बाद गर्भगृह में जाकर दर्शन कर सकेंगे श्रद्धालु; नारियल, फूलमाला भेंट नहीं कर सकेंगे

खंडवा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
दादाजी धुनीवाले मंदिर खंडवा। - Dainik Bhaskar
दादाजी धुनीवाले मंदिर खंडवा।

श्री दादाजी धूनीवाले मंदिर में शरद पूर्णिमा मंगलवार को मनाई जाएगी। रात 12 बजे बड़े और छोटे दादाजी की समाधि पर दूध का भोग लगाकर प्रसादी वितरित की जाएगी। इसके साथ ही बुधवार सुबह से मंदिर के गर्भगृह में श्रद्धालुओं को पहले की तरह प्रवेश दिया जाएगा।

मंदिर गर्भगृह में 25 मार्च 2020 से आम श्रद्धालुओं का प्रवेश प्रतिबंधित है। अब 1 साल 6 माह और 26 दिन बाद आम श्रद्धालु दादाजी की समाधि तक पहुंच कर प्रार्थना कर सकेंगे। समाधि पर भोग लगा सकेंगे, लेकिन नारियल और फूलमाला भेंट नहीं कर सकेंगे। नारियल सेवादार अलग से लेकर पात्र में रखेंगे। यह निर्णय सोमवार शाम श्री धूनीवाला आश्रम न्यास कार्यालय में सेवादारियों ने चर्चा कर लिया। इस दौरान न्यासी प्रकाश बाहेती, सुभाष नागोरी, रामजी महाराज पुजारी, सुशील अग्रवाल और पटेल सेवा समिति के मदन ठाकरे मौजूद थे।

अभी तक यह है व्यवस्था

लॉकडाउन खुलने के बावजूद श्री दादाजी मंदिर के गर्भगृह में प्रवेश प्रतिबंधित है। यहां आने वाले श्रद्धालु धूनि माई के पास स्थित गर्भगृह के द्वार के सामने से बड़े दादाजी श्री केशवानंद महाराज की समाधि के दर्शन कर रहे हैं। इसी तरह छोटे दादाजी श्री हरिहर भोले भगवान की समाधि के दर्शन कर रहे हैं। धूनि माई में हवन-पूजन कर मां नर्मदा के दर्शन कर श्रद्धालु मंदिर के चारों ओर परिक्रमा लगा रहे हैं। दर्शन की यह व्यवस्था गुरुपूर्णिमा के दिन भी ऐसे ही रही।

इसलिए बदली जा रही व्यवस्था

कोरोना संक्रमण अब नियंत्रण में है। शहर में सभी तरह की गतिविधियां सामान्य हो गई हैं। इसलिए दादाजी मंदिर में भी श्रद्धालु अब पहले की तरह गर्भगृह में प्रवेश कर दादाजी के दर्शन कर सकेंगे।

खबरें और भी हैं...