• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Khandwa
  • As Soon As The Model Code Of Conduct Was In Place, The Place Of Public Hearing Changed On The Day, Applications Were Put In The Box Outside, There Was A Second Public Hearing After The Corona Period, But Had To Be Stopped As Soon As The Code Of Conduct Was Imposed.

आचार संहिता का जनसुनवाई में असर:आदर्श आचार संहिता लगते ही एनवक्त पर बदला जनसुनवाई का स्थान, बाहर डिब्बे में डलवाए आवेदन, कोरोना काल के बाद दूसरी जनसुनवाई थी, लेकिन आचार संहिता लगते ही बंद करनी पड़ी

खंडवा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पंचायत के कार्यों में भ्रष्टाचार की शिकायत लेकर पहुंचे भीलखेड़ी सराय के ग्रामीण। - Dainik Bhaskar
पंचायत के कार्यों में भ्रष्टाचार की शिकायत लेकर पहुंचे भीलखेड़ी सराय के ग्रामीण।
  • बदहाल मार्ग, पंचायत में भ्रष्टाचार, फसलें खराब हाेने सहित 43 आवेदन आए

जनसुनवाई के लिए अफसर मंगलवार को कलेक्टोरेट परिसर पहुंचने ही वाले थे कि लोकसभा उपचुनाव की तारीख की घोषणा हो गई और संसदीय क्षेत्र में आचार संहिता लागू हो गई। अफसर आए जरूर, लेकिन सभाकक्ष में जनसुनवाई नहीं हुई। आवेदकों से परिसर में ही एक डिब्बे में आवेदन डलवाए गए।

काेरोना काल के चलते 18 महीने बाद 21 सितंबर से जनसुनवाई शुरू हुई थी। इस दिन पंधाना में मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान का कार्यक्रम होने से जनसुनवाई में गिनती के अधिकारी पहुंचे थे और मात्र 26 आवेदकों ने आवेदन दिए थे। 28 सितंबर मंगलवार को बड़ी संख्या मंे आवेदक पहुंचे लेकिन सुबह 10.30 बजे आचार संहिता लग जाने के कारण अधिकारियों से नहीं मिल सके। उन्हें अपने आवेदन व शिकायतें परिसर में स्थित एक डिब्बे में डालने पड़े।

भ्रष्टाचार की शिकायत लेकर पहुंचे 100 से अधिक ग्रामीण

पंधाना की ग्राम पंचायत भीलखेड़ी सराय में करोड़ों रुपए के भ्रष्टाचार की शिकायत लेकर बड़ी संख्या में ग्रामीण कलेक्टोरेट पहुंचे। ग्रामीणों ने बताया सरपंच, सचिव व कैलाश पिता रूपसिंग नामक मेट पंचायत में अपनी मनमानी कर रहा है। उनके द्वारा कपिलधारा कूप, निर्मल नीर कूप, पोखरन तालाब, वृक्षारोपण, सामुदायिक शौचालय निर्माण, पीएम आवास, जॉब कार्ड, रिचार्ज पिट गड्‌ढे, कंटूर, नाली निर्माण, नलकूप पाइप लाइन आदि में भारी भ्रष्टाचार किया गया है। ग्रामीणों ने मांग की कि मामले की जांच शिकायतकर्ता के सामने हो, जांच दल में कलेक्टोरेट का अधिकारी हो, जनपद का नहीं हो, निष्पक्ष जांच की जाकर शासकीय योजनाओं में हेरफेर करने वाले सचिव, सरपंच व मेट पर कठोर कार्रवाई की जाए।

गांव में पानी की किल्लत, नलजल योजना का लाभ मिले

पंधाना ब्लाक के ग्राम पुरमपुरा की करीब दो दर्जन महिलाएं गांव में पानी की समस्या होने पर कलेक्टोरेट पहुंचीं और कलेक्टर कक्ष के सामने बैठ गईं। महिलाओं ने बताया गांव में केवल एक हैंडपंप है, बारिश में भी पानी की किल्लत बनी रहती है। आसपास के गांवों में नल जल योजना के तहत पानी की टंकी का निर्माण व घरों में नल कनेक्शन हो चुके हैं, लेकिन हमारा गांव अब भी योजना से अछूता है। गांव में पानी की व्यवस्था की जाए।

खबरें और भी हैं...