पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

अब जिले में बर्ड फ्लू पॉजिटिव:भोपाल की प्रयोगशाला में भेजे गए सैंपल की रिपोर्ट से हुई पुष्टि, सतर्कता बढ़ाई

खंडवा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

खंडवा सहित प्रदेश के सात जिलों में गुरुवार को बर्ड फ्लू की पुष्टि हो गई। खंडवा में पिछले एक सप्ताह में 30 से अधिक कौओं और 70 से अधिक बगुलों की मौत के बाद पशु चिकित्सा विभाग ने सैंपल लेकर जांच के लिए भोपाल की लैब में भेजे थे, जिसकी रिपोर्ट गुरुवार को पॉजिटिव आई। इसके साथ ही सरकार ने खंडवा जिले में भी दिशा-निर्देश जारी किए हैं। कलेक्टर से बर्ड फ्लू से आने वाली इमरजेंसी से निपटने के लिए भी तैयारियां रखने के निर्देश दिए हैं। इधर, गुरुवार को इंदिरा सागर जलाशय एवं जिले के अन्य पानी अधिग्रहण क्षेत्रों के आसपास से 20 प्रवासी पक्षियों की बीट जांच के लिए भोपाल भेजी। पशु रोग अन्वेषण प्रयोगशाला प्रभारी डॉ. नीरज कुमुद ने बताया अबतक कुल 28 सैंपल जांच के लिए भोपाल भेजे हैं। इसमें 6 सैंपल मृत पक्षियों के हैं। शुक्रवार को भी भोपाल लैब से रिपोर्ट आने की संभावना है। इधर, शुक्रवार से पशुपालन विभाग पोल्ट्रीफार्म का निरीक्षण करेगा। विभाग की टीम के डॉक्टर स्वस्थ मुर्गियों के सैंपल भी जांच के लिए भोपाल भेजेंगे, ताकि उनकी सेहत की सटीक जानकारी आ सके। जिले में 30 पोल्ट्रीफार्म है। जहां पर फिलहाल 15 हजार से अधिक मुर्गियां हैं। देश के अलग-अलग हिस्सों सहित खंडवा शहर एवं जिले में पक्षियों के मरने की खबरें पिछले तीन दिनों तक आती रही। इसलिए विभाग ने पक्षियों के मरने के बाद एहतियात के तौर पर अब पोल्ट्रीफार्म की मुर्गियों की जांच के लिए कदम उठाया है।

सबसे ज्यादा इन क्षेत्रों में हुई पक्षियों की मौत

रेलवे आउटर के पास 15 और रामनगर में 10 कौओं की मौत बुधवार को हुई। इससे पहले पंजाब कॉलोनी क्षेत्र, गोलमाेल बाबा क्षेत्र, श्मशान घाट रोड, चमारिया नाला क्षेत्र के आसपास भी बड़ी संख्या में कौओं और बगुलों की मौत हो चुकी है।

टीम गठित : बर्ड फ्लू के संबंध में ब्लॉक स्तर पर किया रेपिड रिस्पांस टीम का गठन
पिछले दिनों इंदौर में पक्षियों में एवियन इन्फ्लूएंजा रोग की पुष्टि हो चुकी है। अब खंडवा जिले में भी बर्ड फ्लू की दस्तक हो चुकी है। जिले में इस रोग से निपटने के लिए प्रत्येक ब्लॉक में रेपिड रिस्पांस टीम का गठन किया गया है। उप संचालक पशु चिकित्सा डॉ. राजू रावत ने बताया टीम में पशु चिकित्सकों व सहायक पशु चिकित्सा क्षेत्र अधिकारियों को शामिल किया गया है। इन दलों के अधिकारी-कर्मचारियों को एवियन इन्फ्लूएंजा- 2015 के दिशा निर्देश अनुसार रोग नियंत्रण संबंधी कार्यवाही करने के निर्देश दिए गए हैं।

अलर्ट रहें : नोडल अधिकारी और कार्यालय के फोन पर दे सकते हैं जानकारी
जिले में मुर्गियों, कौवों, प्रवासी पक्षियों आदि में असामान्य मृत्यु, बीमारी की सूचना पशु चिकित्सा विभाग के कार्यालय के टेलीफोन नंबर-0733- 2223901 या जिला नोडल अधिकारी डॉ.अनूप पटेरिया के मोबाइल नंबर-9425086192 पर दे सके हैं। सूचना व्यक्ति भोपाल में राज्य-स्तरीय कंट्रोल-रूम का के टेलीफोन नंबर- 0755-2767583 पर भी दे सकते हैं। सूचना मिलते ही रेपिड रिस्पांस टीम द्वारा त्वरित कार्यवाही की जाएगी। वन मंडल अधिकारी को निर्देश दिए गए है कि वे वन विभाग के अमले को पशु चिकित्सा विभाग के अमले के सहयोग के लिए निर्देशित करें।​​​​​​​

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज आप बहुत ही शांतिपूर्ण तरीके से अपने काम संपन्न करने में सक्षम रहेंगे। सभी का सहयोग रहेगा। सरकारी कार्यों में सफलता मिलेगी। घर के बड़े बुजुर्गों का मार्गदर्शन आपके लिए सुकून दायक रहेगा। न...

    और पढ़ें