पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

श्रीकृष्ण जन्माष्टमी:मंदिरों की साज-सज्जा की, आज शाम तक ही कर सकेंगे दर्शन

खंडवाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • फेसबुक पेज पर लाइव दर्शन कर सकेंगे श्रद्धालु, मंदिरों में की तैयारी; सीमित लोग ही करेंगे जन्म आरती

श्रीकृष्ण जन्माष्टमी बुधवार को मनाई जाएगी। इसके लिए शहर के प्राचीन श्रीकृष्ण मंदिरों में आकर्षक सजावट की है। कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए रात की बजाए दिन में ही श्रद्धालु मंदिरों में दर्शन कर सकेंगे। रात 12 बजे जन्म आरती मंदिरों में सीमित लोगों की मौजूदगी में की जाएगी। बुधवारा बाजार स्थित श्री सत्यलक्ष्मीनारायण मंदिर द्वारा फेसबुक पर लाइव दर्शन और आरती व्यवस्था की है। इस मंदिर को मास्क, सैनिटाइजर और स्प्रे पंप से आकर्षक सजाया है। माहेश्वरी पंचायत ट्रस्ट के अध्यक्ष नारायण बाहेती ने बताया कि मंदिर में दर्शन शाम 4 बजे से 7 बजे तक प्रशासन द्वारा तय नियमों के अनुसार कराए जाएंगे। एक समय में मंदिर में पांच लोग ही रहेंगे। जन्म आरती का लाइव प्रसारण फेसबुक पेज पर किया जाएगा। मंदिर में सजावट सचिव विजय राठी, ट्रस्टी मुकेश झंवर, माहेश्वरी मंडल अध्यक्ष उमेश बाहेती, हेमंत मूंदड़ा, अमीत पसारी, सुनील बाहेती, संतोष राठी, युवा संगठन अध्यक्ष हर्ष बाहेती, प्रियांश काकाणी, केशव गोपाल बाहेती, अर्पित बाहेती, देवांश काकाणी, भगवान लड्‌ढा सहित समाज सेवी संजय विधाणी के सहयोग से किया।

श्री अग्रसेन भवन : गाइडलाइन अनुसार सुबह 10 से शाम 4 बजे तक ही होंगे दर्शन

श्री अग्रसेन भवन स्थित श्री राधा कृष्ण मंदिर में फूलों से विशेष शृंगार किया है। ओमप्रकाश अग्रवाल ने बताया कि इस बार रात की बजाए सुबह 10 बजे से शाम 4 बजे तक ही श्रद्धालु सोशल डिस्टेंसिंग के साथ दर्शन कर सकेंगे। सरकार की गाइडलाइन का पालन कराया जाएगा।

पार्वती बाई धर्मशाला : अभिषेक व पूजन के बाद भगवान का किया जाएगा शृंगार

पार्वती बाई धर्मशाला परिसर स्थित प्राचीन लक्ष्मीनारायण मंदिर में सुबह भगवान का अभिषेक, पूजन कर शृंगार किया जाएगा। पुजारी पंडित धर्मेंद्र दफ्तरी ने बताया कि प्रशासन द्वारा तय नियम अनुसार श्रद्धालु दर्शन करेंगे। रात में धर्मशाला परिसर में निवासरत लोग ही भगवान की आरती में शामिल हो सकेंगे।

0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव - आज उन्नति से संबंधित शुभ समाचार की प्राप्ति होगी। धार्मिक और आध्यात्मिक कार्यों में भी कुछ समय व्यतीत होगा। किसी विशेष समाज सुधारक का सानिध्य आपके अंदर सकारात्मक ऊर्जा उत्पन्न करेगा। बच्चे त...

और पढ़ें