खंडवा में प्रशासन का ‘गुंडा’ अभियान:बांग्लादेश, घासपुरा में पत्थरबाजों का अवैध निर्माण तोड़ा, नाली पर 2-2 फीट में बने थे शौचालय; परिजन बोलें- आरोपी जेल में फिर भी कार्रवाई

खंडवा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
उपद्रवियों के मकानों का अवैध निर्माण हटाया। - Dainik Bhaskar
उपद्रवियों के मकानों का अवैध निर्माण हटाया।

खंडवा में मंगलवार दोपहर पुलिस ने गुंडा एक्ट के तहत मुस्लिम बस्ती घासपुरा और बांग्लादेश में अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई की। यहां नालियों पर दो-दो फीट का अतिक्रमण कर लोगों ने शौचालय बना रखे थे। आरोप यह था कि, देवउठनी ग्यारस पर हुए उपद्रव में इन्हीं परिवार के लोगोंं ने पथराव कर आगजनी की।

मंगलवार दोपहर 1 बजे दल-बल के साथ पुलिस और नगर निगम का अमला बांग्लादेश कॉलोनी पहुंचा। यहां मकानों का अवैध निर्माण तोड़ने की कार्रवाई की। एक जेसीबी मशीन ने 4 मकानों का अतिक्रमण तोड़ा। सीएसपी ललित गठरे के मुताबिक, सोमवार को चार उपद्रवियों के घरों पर नोटिस चस्पा कर दिए गए थे। गुंडा, माफिया अभियान के तहत मकानों के अवैध हिस्से को तोड़ा गया है।

इन आराेपियों के मकान तोड़े गए

नगर निगम की टीम ने उपद्रव के आरोपी सद‌्दाम, अब्दुल्ला, रफीक टाऊ व एक अन्य के मकान का अवैध निर्माण तोड़ा है। सोमवार दोपहर इनके घर नोटिस चस्पा किए गए थे। नोटिस में अधिनियमों का उल्लेख करते हुए चेतावनी दी थी कि सूचना प्राप्त होने के 48 घंटे में घरों का अतिक्रमण हटा लें। अतिक्रमण करने वाले के खिलाफ निगम केस दर्ज कर कानूनी कार्रवाई भी कर सकता है। जिसमें छह माह की सजा तक का प्रावधान है।

आरोपी जेल में फिर भी कार्रवाई की

आरोपियों के परिवार वालों का कहना है कि, पुलिस ने सीधे-साधे लोगों को जबरन आरोपी बना दिया। जबकि, उनका कोई कसूर नहीं था। दूसरा, जब आरोपी जेल में है तो मकान क्यों तोड़े गए। जैसे-तैसे करके शौचालय बनाए थे। वह भी प्रशासन ने हटा दिए। जाति-धर्म की लड़ाई में गरीबों पर अत्याचार किया जा रहा है।

बांग्लादेश कॉलोनी में तैनात रहा पुलिस फोर्स।
बांग्लादेश कॉलोनी में तैनात रहा पुलिस फोर्स।
खबरें और भी हैं...