• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Khandwa
  • Devotees Will Gather In Large Numbers In Dadaji Dham, So It Is Necessary To Wear A Mask; You Will Be Able To Offer Bhog On The Tomb, Coconut And Flower Garland Banned

खंडवा में बड़े दादाजी की बरसी 16 को:दादाजी धाम में बड़ी संख्या में जुटेंगे श्रद्वालु इसलिए मास्क लगाना जरूरी; समाधि पर भोग लगा सकेंगे, नारियल व फूलमाला प्रतिबंधित

खंडवाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
श्री दादाजी धूनीवाले धाम। (फाइल फोटो) - Dainik Bhaskar
श्री दादाजी धूनीवाले धाम। (फाइल फोटो)

बड़े दादाजी का बरसी उत्सव 16 दिसंबर गुरुवार को मनाया जाएगा। इस दिन मंदिर में विशेष पूजन, अभिषेक, बड़ी आरती हवन और भंडारा होगा। गुरु पूर्णिमा पर शहर में बाहरी लोग और मंदिर में श्रद्धालुओं का प्रवेश प्रतिबंधित होने के कारण बरसी उत्सव में अधिक लोगों के आने की संभावना जताई जा रही है। इसलिए बरसी के दिन कोरोना गाइड लाइन का पालन श्रद्धालुओं से कराया जाएगा।

मंदिर प्रबंध समिति के अनुसार, दादाजी धाम पहुंचने वाले श्रद्वालुओं के लिए मास्क लगाना अनिवार्य रहेगा। श्रद्धालु समाधि पर भोग लगा सकेंगे, लेकिन नारियल और फूल माला चढ़ाना प्रतिबंधित रहेगा। स्थायी रूप से धूप और बारिश से बचाव के लिए छोटे दादाजी मंदिर के पास शेड भी लगाया जा रहा है।

बरसी पर मंदिर में यह होंगे कार्यक्रम

प्रात: 4 से 5.30 तक समाधि स्नान और भोर आरती। 8 से 9.30 तक सुबह की बड़ी आरती। 10 बजे से 10.30 तक समाधि सेवा, नवैध। शाम 5 से 5.30 तक अभिषेक, सत्य नारायण भगवान की कथा और आरती, शाम 6.30 से 7.30 तक बड़ी आरती। रात 8 बजे से 9.30 तक समाधि सेवा, रात 10 बजे बड़ा हवन और भंडारा होगा।

धूनी माई में हवन कर सकेंगे श्रद्धालु

श्री धूनी वाला आश्रम ट्रस्ट के ट्रस्टी सुभाष नागौरी के अनुसार, गुरुपूर्णिमा पर बाहर के लोग नहीं आ पाए थे, इसलिए अधिक श्रद्धालुओं के आने की संभावना है। समाधि पर श्रद्धालु भोग लगा सकेंगे, लेकिन नारियल और फूलमाला चढ़ाना प्रतिबंधित रहेगा। श्रद्धालु सामान्य रूप से धूनी माई में हवन कर सकेंगे।

खबरें और भी हैं...