चने ने छीना किसानों का चैन / तीन दिन तक ट्राली पर रात गुजार रहे किसान, भोजन-पानी को भी तरस रहे

Farmers spending night on trolley for three days, are also craving for food and water
X
Farmers spending night on trolley for three days, are also craving for food and water

  • जिले के 11 चना उपार्जन केंद्रों पर परेशान हो रहे किसान
  • कारण; एक साथ 300 मैसेज भेजने से 500 वाहन प्रतिदिन पहुंच रहे

दैनिक भास्कर

May 24, 2020, 05:33 AM IST

खंडवा. 5 से 20 क्विंटल तक चना बेचने के लिए किसानों के दिन का चैन और रातों की नींद हराम हो गई है। उपज बेचने के लिए नंबर नहीं आने पर उन्हें तीन से चार दिन तक ट्रैक्टर-ट्राली पर ही रात गुजारने पड़ रहे हैं। केंद्रों पर पीने को पानी है न खाने का इंतजाम। भास्कर ने छैगांव देवी स्थित वेयर हाउस के खरीदी केंद्र के हाल जाने। यहां ग्राम रेहमापुर से खंडवा की ओर सड़क के दोनों छोर पर करीब 200 वाहन खड़े थे। एक दर्जन गांवों के किसान तीन दिन से उपज बेचने का इंतजार कर रहे थे। किसान सुरेंद्र सिंह देलगांव ने कहा उनका भी 28वां नंबर है। नंबर आने में तीन से चार दिन लग जाएंगे।
परेशान किसानों की जुबानी
धमनगांव के प्रदीप राठौर ने बताया तीन दिन पहले केंद्र पर आया था। 9वां नंबर मिला है, पर नंबर अभी तक नहीं आया। केंद्र पर पीने को भी पानी नहीं है।
योगेश पाटीदार ने बताया मेरा 25वां नंबर है। बारी के इंतजार में दो दिन से ट्राली पर सो रहे हैं। ऐसा लग रहा है अभी दो दिन और इंतजार करना होगा। 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना