गणेश गौशाला में मकर संक्रांति की धूम:गौमाता को गुड़, हरे चने और घास का आहार दिया; तिब्बती महिलाओं ने समन्वय दिवस मनाया

खंडवा8 दिन पहले

मकर संक्रांति पर्व पर दान-पुण्य का विशेष महत्व है, इसी कड़ी में लोग गणेश गौशाला पहुंचे। जहां गौमाता को गुड़, हरे चने और घास का आहार देकर परिवार में सुख-समृद्वि की कामना किया। अलग-अलग समाज से आए लोगों ने एक-दूसरे को गुड-तिल्ली के लड्‌डू देकर खुशियां बांटी।

आज 14 जनवरी का दिन मकर संक्रांति के अलावा भारत-तिब्बत समन्वय दिवस के रुप में भी जाना जाता है। इस बीच खंडवा गणेश गौशाला धाम पर तिब्बती महिलाएं भी पहुंची, यह वे महिलाएं है जो सालों से शीतकाल के समय शहर में गर्म कपड़ों का व्यापार करने आती है। तिब्बती महिलाओं ने भी गायों को आहार दिया। कैलाश मानसरोवर की पूजा-अर्चना की। इस दौरान समाजसेवी भूपेंद्रसिंह चौहान, सुनिल जैन, आशीष चटकेले, रामचंद मौर्य, शिवनारायणसिंह चौहान, वैश्य महिला ईकाई की शालिनी अग्रवाल समेत शहरवासी मौजूद थे।

तिब्बती महिलाओं ने कैलाश की पूजा-अर्चना की।
तिब्बती महिलाओं ने कैलाश की पूजा-अर्चना की।
खबरें और भी हैं...