पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बगैर वेतन घर बैठे:10 माह ही नौकरी कर पा रहे होमगार्ड, वेतन भी नहीं मिल रहा

खंडवा18 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

कानून व्यवस्था में पुलिस के साथ कंधे से कंधा मिलाकर काम करने वाले नगर सैनिक अब 12 में से 10 महीने ही नौकरी कर पा रहे हैं। दो महीने उन्हें बगैर वेतन के घर बैठना पड़ रहा है। जिले में जिला होमगार्ड कार्यालय में करीब 146 नगर सैनिक कार्यरत हैं।

जिला प्रशासन द्वारा इनमें से कुछ की ड्यूटी यातायात विभाग, आरटीओ विभाग या फिर अन्य शासकीय कार्यालयों में लगाई जाती है। वर्तमान में शासन के निर्देश पर इनमें से हर नगर सैनिक को दो महीने के लिए घर पर ही बैठना पड़ रहा है। डिस्ट्रिक्ट कमांडेंट महेश हनौतिया ने बताया होमगार्ड डीजी द्वारा इनकी ड्यूटी तय की जा रही है।

1 जून से 41 जवान घर बैठेंगे
जिले के 146 नगर सैनिकों में 1 जून से 41 सैनिकों को अपनी किट होमगार्ड कार्यालय में जमा कर घर जाना होगा। नगर सैनिक कैलाश, आल्विन सहित अन्य सैनिकों ने बताया दो महीने का वेतन नहीं मिलने से आर्थिक परेशानी का सामना करना पड़ेगा। कुछ सैनिक जो दो महीने से बाहर हैं वे उधार लेकर परिवार का पालन पोषण कर रहे हैैं।

खबरें और भी हैं...