पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

इंक्रीमेंट रोकने वाले आदेश से घबराए शिक्षक:ऐसा है तो अब से स्कूल में हम नहीं पढ़ाएंगे कठिन विषय

खंडवाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • प्राचार्य-शिक्षकों को टारगेट रिजल्ट सुधारने के लिए लोक शिक्षण संचालनालय ने जारी किए निर्देश

स्कूलों में 9वीं से 12वीं तक परीक्षाफल सुधारने के नए फरमान से शिक्षकों में घबराहट की स्थिति बन गई है। वे कठिन विषयों को पढ़ाने से अब डर रहे हैं। वे बोल रहे हैं कि ऐसा है तो अब से स्कूल में कठिन विषयों को नहीं पढ़ाएंगे।

लोक शिक्षण संचालनालय ने चेतावनी दी है कि कक्षा 9वीं में 59%, 10वीं में 64%, 11वीं में 81% व 12वीं में 73% से कम रिजल्ट दिया तो शिक्षक व प्राचार्यों की एक-एक वेतन वृद्धि रोक ली जाएगी। इससे भी कम रिजल्ट दिया तो विभागीय कार्यवाही के लिए भी तैयार रहें। सत्र 2020-21 में रिजल्ट सुधारने के लिए स्कूल शिक्षा विभाग ने अपने ताैर तरीकाें में खासा बदलाव किया है। विभाग ने उत्कृष्ट, माॅडल सहित सभी स्कूलाें के शिक्षकाें और प्राचार्यों काे अगले सत्र के लिए पिछले साल के राज्य के औसत रिजल्ट काे आधार बनाकर नए टारगेट दिए हैं। इसमें 10वीं का रिजल्ट 64 और 12वीं का 73 फीसदी से ज्यादा लाने काे कहा गया है।

टारगेट पूरा न होने पर इंक्रीमेंट रोकने से लेकर अनुशासनात्मक कार्रवाई करने तक की चेतावनी दी है। वहीं अच्छा काम करने वालों को इंसेटिव के तौर पर सम्मान किया जाने के निर्देश दिए हैं। आयुक्त लाेक शिक्षण जयश्री कियावत संयुक्त संचालक और जिला शिक्षाधिकारी काे इस संबंध के निर्देश जारी किए गए हैं। इनमें इन दाेनाें संवर्ग के अधिकारियाें की जिम्मदेारी भी तय की गई है। निर्देश के साथ ही आयुक्त ने कार्यवाही की रूपरेखा भी तैयार कर ली है।

पहली बार अधिकारियों की भी तय कर दी जिम्मेदारी 1. प्राचार्य- ये सभी स्कूलों में कक्षावार दर्ज संख्या के आधार पर लक्ष्य तय करेंगे कि कक्षा में किस केटेगरी के कितने विद्यार्थी हैं। 2. डीईओ- ये सभी स्कूलाें की विषयवार, कक्षावार तय फॉर्मेट के मुताबिक नियमित समीक्षा एवं माॅनीटरिंग करेंगे। 3. जेडी- शिक्षकाें, विद्यार्थियाें के सहयाेग से लक्ष्य ‌व रिजल्ट की स्कूलवार समीक्षा करेंगे। 1. ए प्लस- 80% या उससे ज्यादा नंबर वाले विद्यार्थियों का आंकलन। 2. ए- 60% से 79% नंबर लाने वाले विद्यार्थी। 3. बी- 45% से 69% नंबर लाने वाले विद्यार्थियों को चिह्नित किया जाएगा। 4. सी- 33% से 44% नंबर लाने वाले।

लक्ष्य पूरा नहीं करने पर होगी चार तरह की कार्रवाई
ए- लक्ष्य से 10% कम आया ताे बख्श देंगे।
बी- लक्ष्य से 11% से 20% कम ताे एक इंक्रीमेंट रुकेगा।
सी- 21% से 40% कमी रही ताे दाे इंक्रीमेंट राेके जाएंगे।
डी- 40% से कम आया ताे विभागीय जांच कराई जाएगी, अनुशासनात्मक कार्रवाई भी हाेगी।

निर्देशों का पालन कराएंगे
लोक शिक्षण आयुक्त से 9वीं से 12वीं तक के रिजल्ट में सुधार लाने और नहीं आने पर कार्रवाई के निर्देश मिले हैं। शिक्षक व प्राचार्यों से निर्देश का पालन कराया जाएगा।-एस भालेराव, प्रभारी, जिला शिक्षाधिकारी

टारगेट पूरा कर लिया ताे सम्मान में प्रशस्ति पत्र मिलेगा

  • लक्ष्य पूरा करने वाले जेडी, डीईओ, प्राचार्यों व शिक्षकाें काे सम्मानित करेंगे। हिंदी एवं संस्कृत के शिक्षकाें काे ए प्लस और ए ग्रेड के विद्यार्थियाें के टारगेट पूर्ति के अाधार पर प्रशस्ति पत्र देंगे। प्रक्रिया की डेडलाइन भी तय-
  • हाईस्कूल एवं हायर सेकंडरी स्कूलाें के विषय के शिक्षकाें व प्राचार्यों काे टारगेट के मुताबिक प्रक्रिया पूरी करने के लिए 25 जनवरी की डेड लाइन तय की गई है। इसके लिए फार्मेट भी भेजा है।
खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज समय कुछ मिला-जुला प्रभाव ला रहा है। पिछले कुछ समय से नजदीकी संबंधों के बीच चल रहे गिले-शिकवे दूर होंगे। आपकी मेहनत और प्रयास के सार्थक परिणाम सामने आएंगे। किसी धार्मिक स्थल पर जाने से आपको...

    और पढ़ें