पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

परिवहन विभाग में कमीशनखोरी का मकड़जाल:आज ही चाहिए तो 10 हजार रुपए में बन जाएगा लाइसेंस

खंडवा2 महीने पहलेलेखक: सदाकत पठान
  • कॉपी लिंक
लाइसेंस आज ही चाहिए तो 10 हजार दो। - Dainik Bhaskar
लाइसेंस आज ही चाहिए तो 10 हजार दो।
  • परिवहन विभाग पहुंची भास्कर टीम, दलाल बोले- ज्यादा सवाल मत करो, पैसे दो लाइसेंस लो
  • अतिरिक्त परिवहन कार्यालय में एक ही दिन में लाइसेंस बनाने का दावा कर रहे हैं एजेंट

अतिरिक्त परिवहन कार्यालय (एआरटीओ) में भ्रष्टाचार और दलालों का वायरस घुसा हुआ है। इसका इलाज परिवहन विभाग से भी नहीं होता। क्योंकि अधिकारियों व बाबूओं की मिलीभगत से यह संभव नहीं है। एआरटीओं में दलाल सरकारी फीस से चार गुना ज्यादा वसूलते हैं। यह बात तो सभी को पता है, लेकिन अब तक दलालों ने अपना ही पुराना रिकार्ड ताेड़ दिया है। ये हम नहीं बोल रहे बल्कि दलाल खुद अपने मुंह से बोलते हुए कैमरे में कैद हुए है। भास्कर टीम ने लर्निंग व हैवी लाइसेंस के संबंध में एआरटीओ में दलाल व लाइसेंस बनवाने आए लोगों से बात की तो दलाल ने एक ही दिन में लाइसेंस बनाने का दावा किया।

इसके लिए फीस 10 हजार रुपए बताई। वहीं एक ड्राइवर ने कहा कि 8 हजार रुपए में लाइट से हैवी लाइसेंस बनवा रहा हूं। दलाल से बात हो गई, केवल फार्मेलिटी करने आया हूं। इससे एक बात तो साफ है कि एआरटीओ में कोई भी काम करवाना है तो सिर्फ पैसे दो और काम करवाओ। जबकि विभाग द्वारा ऑनलाइन लाइसेंस सहित अन्य सुविधाओं का दावा कर घर बैठे लाइसेंस भेजने का ढिंढोरा पीटा जाता है। हकीकत में जो लोग काम के लिए जाते हैं। उन्हें कितना परेशान होना पड़ता है। खुलासा पढ़िए...।

एआरटीओ परिसर के बाहर की हकीकत

लाइसेंस आज ही चाहिए तो 10 हजार दो
एआरटीओ के बाहर गुमठियों पर लाइसेंस, परमिट, फिटनेस, नाम ट्रांसफर के लिए लोगों की भीड़ लगी हुई थी। इसी बीच 19 वर्षीय युवक फैजान और एजेंट धर्मेंद्र की बीच हुई बातचीत के प्रमुख अंश पढ़िए...।

फैजान : 20 दिन के भीतर हैवी लाइसेंस बनवाना है। कितने लग जाएंगे। एजेंट : 5 हजार रुपए में लाइसेंस बन जाएगा। फैजान : थोड़ा जल्दी हो जाएगा तो अच्छा होगा। एजेंट : अगर आज ही चाहिए तो 10 हजार रुपए में बन जाएगा लाइसेंस। फैजान : मुझे आज के आज ही नहीं, होना फार्म भरना है। एजेंट : हम तो तुझे आज के आज ही दे रहे हैं, झंझट ही खत्म आज ही बनवा ले। नहीं तो एक महीने से पहले नहीं बनेगा।

एआरटीओ परिसर के अंदर का सच...
ग्राम जलवा से आए संजय के हाथ में कागज थे। वह कभी अंदर तो कभी बाहर बेचैन होकर इधर-उधर भटक रहा था और अपने एजेंट को ढूंढ रहा था। जब उससे माजरा पूछा तो उसने क्या कहा पढ़िए...

रिपोर्टर : कौन है आप और इतने परेशान क्यों हो।
युवक : लाइसेंस के लिए आया हूं। एजेंट को ढूंढ रहा हूं।
रिपोर्टर : लर्निंग या हैवी कौन सा लाइसेंस बनवाना है।
युवक : मेरा तो सब कुछ तैयार है, इकबाल एजेंट को 8 हजार रुपए दिए हैं। बस वह एक बार मिल जाए।
रिपोर्टर : 8 हजार रुपए किस बात के दिए। एजेंट का चक्कर छोड़ो लाइसेंस तो 1300 में बन जाता है।
युवक : आपको नहीं पता यहां पर एजेंट के बगैर कोई काम नहीं होता।

एआरटीओ खिड़की... ये क्या... हंसी में टाल गए बाबू
स्थायी लाइसेंस, अस्थायी लाइसेंस, फिटनेस व परमिट शाखा की खिड़की पर खड़े ग्राम आरुद से आए पिंटू कुमरावत ने कहा कि रिनुवल के 800 रुपए महेश्वरी एजेंट को दिए हैं। मूंदी के गोविंद सोमानी ने लर्निंग लाइसेंस के 2 हजार रुपए दिए। पिंटू और गोविंद ने परिवहन विभाग के बाबू अशोक गोस्वामी के सामने यह बात कही। लेकिन उन्होंने इसको हंसी में टाल दिया। इसका मतलब साफ है कि बाबूओं और एजेंटों की मिलीभगत से यह संभव नहीं है।

यह है सरकारी रेट लिस्ट और दलालों की फीस

सरकारी दावा कि घर बैठे मिलेगा लाइसेंस
लोगों का समय और पैसा बचाने के लिए रोड, ट्रांसपोर्ट और हाइवे मंत्रालय ने ड्राइविंग लाइसेंस की सभी सुविधाओं काे ऑनलाइन कर दिया है। इसके तहत 18 सुविधाओं को डिजिटल किया है। 1 अप्रैल के बाद परिवहन विभाग ऑनलाइन लायसेंस देने का दावा किया जा रहा है।

(सीधी बात; जगदीश बिल्लोरे, एआरटीओ)

एक ही दिन में लाइसेंस का दावा, कैसे संभव ?

एजेंट लोग एक ही दिन में लाइसेंस बनाने का दावा कर रहे हैं, यह कैसे संभव है? ये तो गंभीर मामला है। पार्टी को एफआईआर करवाना चाहिए। या तो हमारे पास आए, अगर कोई आएगा तो हम कार्रवाई करेंगे। एजेंटों पर कार्रवाई क्यों नहीं करते। यहां तक कि वह कार्यालय के अंदर बैठकर कर्मचारी की तरह काम निपटाते हैं? एजेंट मेरे थोड़ी है। लोगों को ऑफिस आना चाहिए। हम तो अपना काम रहे हैं। आपने अपने कार्यकाल में किसी एजेंट पर कार्रवाई की हो तो बताए? - ऑनलाइन सर्विस वाले लोग हैं, वो लोग ऑनलाइन भरकर फीस लेते हैं। ऑनलाइन भरकर फीस काट लेते हैं। हमारे पास कोई चलकर तो आए हम कार्रवाई करेंगे।

यह है हकीकत
जिन लोगों को जानकारी का अभाव है उनके लिए परिवहन कार्यालय में सुविधा कक्षा खोला है। हकीकत में यहां कोई नहीं बैठता। कार्यालय के चक्कर काटे बगैर काम पूरा नहीं होता।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- सकारात्मक बने रहने के लिए कुछ धार्मिक और आध्यात्मिक गतिविधियों में समय व्यतीत करना उचित रहेगा। घर के रखरखाव तथा साफ-सफाई संबंधी कार्यों में भी व्यस्तता रहेगी। किसी विशेष लक्ष्य को हासिल करने ...

    और पढ़ें