पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Khandwa
  • In Chhanera, Khirkiya And Timarni, Where There Was A Stoppage Of 8 Trains, Now Only 4 Trains, Difficulty Increased Due To Change Of Time

वैश्विक महामारी का असर:छनेरा, खिरकिया व टिमरनी में जहां 8 ट्रेनों का स्टॉपेज था, अब 4 ही गाड़ियां, समय परिवर्तन से बढ़ी मुश्किल

खंडवा8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • तीनों स्टेशन बैतूल संसदीय क्षेत्र के, सांसद उइके बोले- रेल मंत्री से करूंगा चर्चा

वैश्विक महामारी कोरोना के कारण पहले लॉकडाउन फिर अनलॉक और अब रेलवे द्वारा ट्रेनों के समय में परिवर्तन से यात्रियों की मुसीबत बढ़ गई है। लॉकडाउन के पहले बैतूल संसदीय क्षेत्र के छनेरा, खिरकिया और टिमरनी रेलवे स्टेशनों पर प्रतिदिन 7-8 ट्रेनों का स्टॉपेज था। अनलॉक में ट्रेनों की संख्या 4 हो गई। अब गाड़ियों के टाइम टेबल बदल जाने से इन स्टेशनों पर दिनभर में एकमात्र काशी एक्सप्रेस की सुविधा रह गई है। ऐसे में यात्रियों की फजीहत बढ़ गई है।
छनेरा, खिरकिया और टिमरनी स्टेशन पर अनलॉक के बाद 4 ट्रेन क्रमशः झेलम एक्सप्रेस, जनता, काशी व कामायनी एक्सप्रेस के स्टॉपेज है। लेकिन शनिवार को इनमें जनता व कामायनी एक्सप्रेस के समय में बड़े परिवर्तन से यात्रियों की मुश्किल बढ़ गई है। दरअसल नए टाइम टेबल के पूर्व 3202 जनता एक्सप्रेस छनेरा, खिरकिया व टिमरनी स्टेशनों पर सुबह 9 बजे से 11 बजे के बीच पहुंचती थी। यह गाड़ी अब रात 1 से 3 बजे के बीच इटारसी की ओर जाने के लिए आएगी। इसी तरह कामायनी एक्सप्रेस के समय में भी करीब 2 घंटे का परिवर्तन हुआ है। यह गाड़ी पहले रात 10.15 बजे आती थी, जो अब रात 12.15 आएगी। ऐसे में बैतूल संसदीय क्षेत्र के इन तीन स्टेशनों से यात्रियों को अब शाम 5.20 बजे काशी एक्सप्रेस पर निर्भर रहना पड़ेगा। क्योंकि झेलम एक्सप्रेस भी सुबह 4.45 बजे छनेरा से इटारसी के लिए जाती है। शेष दो ट्रेनें देर रात आएगी।
पहले प्रतिदिन 7-8 गाड़ियां रुकती थीं
लॉकडाउन के पहले इन स्टेशनों पर राज 7-8 ट्रेनों का स्टॉपेज रहता था। इनमें आधी ट्रेनों का समय दिन में होने से यात्रियों को इटारसी व भुसावल जाने में सुविधा रहती थी। पूर्व में छनेरा, खिरकिया व टिमरनी स्टेशनों पर अप व डाउन साइड के लिए झेलम, काशी, कामायनी, पठानकोट, जनता एक्सप्रेस के अलावा दोनों ओर से पैसेंजर यात्री गाड़ी के दो-दो फेरों के अलावा हफ्ते में तीन दिन नागपुर-भुसावल सुपरफास्ट पैसेंजर भी रुकती थी। अनलॉक में झेलम, जनता, कामायनी व काशी एक्सप्रेस की सुविधा बहाल हुई थी कि टाइम टेबल से यात्रियों की परेशानी बढ़ गई है। जबकि यात्रियों की इस समस्या से जनप्रतिनिधि भी अंजान हैं।
5 हजार यात्री परेशान
छनेरा, खिरकिया व टिमरनी स्टेशन से प्रतिदिन 4 से 5 हजार यात्री ट्रेनों में सफर करते हैं, लेकिन फिलहाल ट्रेन की सुविधा नहीं होने से क्षेत्रवासी परेशान हैं। इन स्टेशनों से अनुमानित 1.5 लाख रुपए से अधिक रेवेन्यू आता था।
सांसद उइके बोले-रेल मंत्री को पत्र लिखेंगे
संसदीय क्षेत्र के लोगों की रेल संबंधी समस्या पर सांसद दुर्गादास उइके ने कहा कोरोना महामारी के कारण ट्रेनों की संख्या कम है, लेकिन नए समय सारिणी से सामने आई दिक्कत के निराकरण के लिए मैं हावड़ा व कुशीनगर एक्सप्रेस के स्थाई स्टॉपेज के लिए रेल मंत्री पीयूष गोयल को पत्र लिखूंगा।

सुझाव : तीन स्टेशनों की सुविधा का ये है विकल्प
बैतूल-हरदा लोकसभा क्षेत्र के तीन रेलवे स्टेशन के लोगों की परेशानी दूर करने का वैकल्पिक रास्ता है। जिस पर राजनीतिक दल के पदाधिकारियों व स्थानीय जनप्रतिनिधियों को संयुक्त प्रयास करने होंगे। मुंबई-हावड़ा एक्सप्रेस 02322 व कुशीनगर एक्सप्रेस 01015 का छनेरा, खिरकिया व टिमरनी से गुजरने का समय सुबह 8.20 से 12.30 बजे के मध्य है। अन्य ट्रेनों के सुचारू होने तक उपरोक्त दो यात्री गाड़ियों का स्टॉपेज अस्थाई समय के लिए यहां दिया का सकता है।

खबरें और भी हैं...