• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Khandwa
  • In The Second Wave, There Was Dependence On Pithampur For 300 Cylinders, Now We Have 3 Plants; They Will Give 650 Cylinders Of Oxygen Daily

क्राइसिस मैनेजमेंट, खंडवा में भरपूर ऑक्सीजन:दूसरी लहर में 300 सिलेंडर के लिए पीथमपुर पर थी निर्भरता, अब हमारे पास 3 प्लांट; ये रोजाना देंगे 650 सिलेंडर ऑक्सीजन

खंडवा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बुधवार को मंत्री, विधायक व अफसरों ने ऑक्सीजन प्लांट का निरीक्षण किया। - Dainik Bhaskar
बुधवार को मंत्री, विधायक व अफसरों ने ऑक्सीजन प्लांट का निरीक्षण किया।

कोरोना के नए वैरिएंट और तीसरी लहर को लेकर मुख्यमंत्री शिवराजसिंह ने क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक ली। इधर, खंडवा में अफसर, मंत्री और विधायकों ने ऑक्सीजन प्लांट का निरीक्षण कर ट्रायल रन किया। जिला अस्पताल परिसर में स्थापित तीनों प्लांट ने शुद्व ऑक्सीजन मिली। 2600 एलपीएम क्षमता वाले ये प्लांट 650 जंबो सिलेंडर रोजाना भर सकेंगे। बीती लहर में 300 सिलेंडर की जरुरत पड़ती थी।

जिला महामारी विशेषज्ञ डॉ. योगेश शर्मा ने बताया कि, नए वैरिएंट को ध्यान में रखते हुए प्रशासन ने पूरी तैयारियां कर ली है। खंडवा जिला अस्पताल में तीन ऑक्सीजन प्लांट स्थापित है। इनमें मेडिकल कॉलेज का 400 एलपीएम, एनएचडीसी द्वारा सीएसआर फंड से बनाया गया 1200 एलपीएम और नेशनल हाइवे द्वारा स्थापित 1 हजार एलपीएम ऑक्सीजन का प्लांट है। तीनों मिलाकर 2600 एलपीएम ऑक्सीजन उत्सर्जन करती है। बुधवार को तीनों का ट्रायल रन किया गया। ऑक्सीजन का शुद्वता लेवल 90 फीसदी से ऊपर रहता है। तीनों प्लांट की ऑक्सीजन शुद्वता 90 फीसदी से अधिक थी।

दूसरी लहर की अपेक्षा दुगुनी ऑक्सीजन रहेगी

डॉ. शर्मा के अनुसार जब दूसरी लहर में ऑक्सीजन की मारामारी थी तब हमारे पास एकमात्र 400 एलपीएम वाला ऑक्सीजन प्लांट था। लेकिन ऑक्सीजन की डिमांड 300 जंबो सिलेंडर तक रहती थी। जिसके लिए हम पीथमपुर से ऑक्सीजन मंगवाते थे। अब हमारे पास 2600 एलपीएम क्षमता के ऑक्सीजन प्लांट है, जो हमें लगभग 650 जंबो सिलेंडर ऑक्सीजन देंगे। यानी बीती लहर की अपेक्षा हमारे पास दुगुनी ऑक्सीजन है। जो कि प्रदेश में सिर्फ खंडवा के पास है।

खबरें और भी हैं...