• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Khandwa
  • Infant Trafficking, Human Trafficking; Was Absconding For 35 Days, Hospital Running For 90 Days On Interim Relief

आरोपी डॉ. रेणु सोनी को अग्रिम जमानत:मानव तस्करी का मामला; 35 दिन फरार रही थीं, अंतरिम राहत पर 90 दिन से चला रहीं अस्पताल

खंडवा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
आरोपी डॉ. रेणु सोनी। - Dainik Bhaskar
आरोपी डॉ. रेणु सोनी।

खंडवा के बहुचर्चित नवजात खरीद-फरोख्त मामले में जबलपुर हाईकोर्ट ने 50 हजार के मुचलके पर आरोपी डॉ. रेणु सोनी को अग्रिम जमानत दी है। आरोपी ने थाना शहर कोतवाली में प्रकरण दर्ज होने के बाद से हाईकोर्ट में अग्रिम जमानत के लिए आवेदन दे रखा था। करीब 35 दिन फरारी काटने के बाद 1 सितंबर को कोर्ट ने अंतरिम राहत दी। बीते 90 दिन से अंतरिम राहत के आधार पर डॉ. सोनी अपने अस्पताल का संचालन कर रही थी, अब अग्रिम जमानत मिली है।

मेडिकल चौराहा स्थित सोनी अस्पताल की संचालक डॉ. रेणु सोनी पति डॉ. भरत सोनी के विरुद्व 24 जुलाई को अपराध पंजीबद्व किया गया था। डॉ. रेणु सोनी पर नाबालिक बालिका का अपने निजी अस्पताल में प्रसव कराकर नवजात को बेचने का आरोप था। पुलिस ने इनके अलावा नर्स संजूला, कथित डॉक्टर सौरभ सोनी, अस्पताल का कर्मचारी मोहसिन खान, कमलेश नवारिया, एजेंट वर्षा यादव को भी आरोपी बनाया था। सभी आरोपियों के विरुद्व आईपीसी की धारा 120-बी, 176, 34. 317 एवं 370, धारा 81 किशोर न्याय (बच्चों की देखभाल और संरक्षण) अधिनियम, 2015 के साथ-साथ POCSO अधिनियम की धारा 19 और 21 (2) के तहत केस दर्ज किया था।

इनमें से पुलिस ने सौरभ सोनी, संजुला, वर्षा और कमलेश को गिरफ्तार कर लिया था। लेकिन डाॅ. रेणु सोनी और मोहसिन फरार रहें। रेणु सोनी ने अग्रिम जमानत के लिए आवेदन किया तो 1 सितंबर को कोर्ट ने अंतरिम राहत दे दी। जिससे कि, पुलिस गिरफ्तारी न कर सकें। तबसे रेणु सोनी अस्पताल का संचालन भी कर रही है।

डॉक्टर ने नवजात को बेचा:मशहूर डॉक्टर ने खुद के अस्पताल में नाबालिग का प्रसव कराया, बच्चे का ढाई लाख में किया सौदा; दामाद समेत 5 पर केस

अब पुलिस मोहसिन को पकड़कर ले आई

पूरे मामले में पुलिस की मिलीभगत भी सामने आई है। अब डॉ. रेणु सोनी को अग्रिम जमानत मिल गई तो पुलिस डॉक्टर के सहयोगी व फरार आरोपी मोहसिन को गिरफ्तार करके ले आई है। मंगलवार सुबह डॉ.सोनी को अग्रिम जमानत मिली तो दोपहर को कोतवाली पुलिस ने मोहसिन को गिरफ्तार कर लिया, कोर्ट में पेश भी किया। बताया जाता है कि, शहर पुलिस के अफसरों को इस पूरे मामले में विशेष पैकेज दिया गया था।

खबरें और भी हैं...