अनुमान:दिसंबर के दूसरे सप्ताह से जनवरी अंत तक कड़ाके की ठंड पड़ेगी, 15 दिन ज्यादा रहेगी

खंडवाएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • पिछले साल से इस बार ज्यादा ठंडा रहा अक्टूबर, पारा 17 डिग्री, एक सप्ताह बाद बढ़ेगी ठंड

ठंड अब धीरे-धीरे जोर पकड़ने लगी है। इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि पिछले साल की तुलना में इस बार अक्टूबर का महीना ज्यादा ठंडा रहा। शनिवार को अधिकतम तापमान 33.1 डिग्री व न्यूनतम 17 डिग्री रिकार्ड किया गया। इससे पहले 1 अक्टूबर को 33.1 डिग्री अधिकतम तापमान दर्ज हुआ था। मौसम विभाग का अनुमान है कि दिसंबर के दूसरे सप्ताह से जनवरी अंत तक कड़ाके की सर्दी पड़ेगी। इस बार ठंड के 15 दिन ज्यादा रहेंगे। मौसम विभाग के मुताबिक राजस्थान से आने वाली ठंडी हवा के कारण दिन व रात के तापमान में गिरावट आ रही है। अगले 24 घंटों में तापमान में और गिरावट आएगी। अब तक हवा का रुख उत्तर की ओर था, लेकिन अब पश्चिम की ओर हो गया है। उत्तर की ओर से आने वाली हवा जम्मू-कश्मीर से आती है। कश्मीर व हिमाचल में बर्फबारी होने पर निमाड़ अंचल ठंडा हो जाता है। यहां सर्दी का जोर बढ़ जाता है। नवंबर का पहला सप्ताह बीतने के बाद ठंड बढ़ेगी और न्यूनतम तापमान में तेजी से गिरावट आएगी। पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय होने से जम्मू कश्मीर में बर्फबारी का दौर शुरू होगा। इससे दिन में भी सर्दी बढ़ जाएगी।

दिसंबर व जनवरी के पहले सप्ताह में ओलावृष्टि की संभावना

भोपाल के मौसम वैज्ञानिक गुरुदत्त मिश्रा के अनुसार धीरे-धीरे दिन का तापमान 30 डिग्री से कम होगा और रात का 16 से 18 के बीच रहेगा। नवंबर से जम्मू-कश्मीर के ऊपर पश्चिमी विक्षोभ का असर रहेगा। पूरा नवंबर और दिसंबर के पहले सप्ताह तक कड़ाके की ठंड रहेगी। यह दौर जनवरी के आखिरी तक जारी रहेगा। जनवरी में पाला पड़ने का अनुमान है। इसका असर पहले से तीसरे सप्ताह तक रहेगा। दिसंबर के आखिरी व जनवरी के पहले सप्ताह में ओलावृष्टि का अनुमान है।

खबरें और भी हैं...