पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

तीन संदेही हिरासत में:दाे दिन पहले झेलम एक्सप्रेस से खंडवा में हुई 6 लाख रुपए के आभूषण की चोरी

खंडवा14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • मोबाइल की लोकेशन प्लेटफार्म नंबर-6 के पास सूरजकुंड में मिली

जम्मूतवी से पूणे जा रही झेलम एक्सप्रेस में यात्री से 6 लाख रुपए कीमत के आभूषण 28 मई की सुबह चोरी हो गए। खंडवा स्टेशन के करीब हुई घटना की रिपोर्ट पीड़ित ने महाराष्ट्र के अहमदनगर जीआरपी थाने में दर्ज कराई। इधर, चोरों द्वारा आभूषण के साथ चोरी की गई पीड़ित के मोबाइल की लोकेशन प्लेटफार्म नंबर-6 सूरजकुंड में मिली। चोरी की घटना की सूचना अहमदनगर से जीआरपी खंडवा को मिली। जिसके बाद जीआरपी डीएसपी इटारसी स्थानीय स्टाफ के साथ चोरों की तलाशी में जुटी। जीआरपी ने मोबाइल लोकेशन के आधार पर प्लेटफार्म नंबर-6 के पीछे सूरजकुंड से तीन संदिग्ध आरोपियों को हिरासत में लेकर गोपनीय तरीके से पूछताछ कर ही है। हालांकि जीआरपी की पकड़ में अभी चोरी के प्रकरण का मुख्य आरोपी नहीं आया है।

इधर, खंडवा स्टेशन पर हुई इस चोरी की घटना से जीआरपी सकते में है। सूत्रों के मुताबिक जालौन जिला उरई यूपी निवासी पीड़ित लगभग 6 लाख रुपए के सोने-चांदी का आभूषण लेकर झांसी से अहमदनगर की यात्रा कर रहा था। सुबह के वक्त जब व सो रहा था तभी चोरों ने घटना को अंजाम देकर खंडवा में उतर गए।
गौरतलब है कि जीआरपी ने ट्रेनों व विशेषकर स्टेशनों के आउटर पर चोरी, लूट व डकैती करने वाले बदमाशों को कुछ दिन पहले पकड़ा था। सोमवार रात गश्त के दौरान जीआरपी के जवानों ने खंडवा में इटारसी आउटर, स्टेशन व भुसावल छोर पर पुराने पुल के पास पांच बदमाशों को देखा। जीआरपी जवान को देखकर बदमाश भागे, लेकिन उन्हें घेराबंदी कर सरस्वती स्कूल के पास दबोच लिया था।
गांजा तस्करी करते गिरफ्तार
कोतवाली पुलिस ने कंजर मोहल्ला क्षेत्र में आरोपी शुभम पिता विजय महेशकर (26) को 1 किलो 300 ग्राम गांजे के साथ गिरफ्तार किया। गांजे की कीमत दस हजार रुपए बताई जा रही है।

पकड़े गए आरोपियों से झेलम एक्सप्रेस सहित लगभग एक दर्जन से ज्यादा ट्रेनों में चोरी के होंगे खुलासे
जानकारी के मुताबिक जीआरपी के हत्थे चढ़े सूरजकुंड के आरोपियों से झेलम सहित अन्य चोरी के मामले के खुलासा होने की संभावना है। कोरोना संक्रमण के दौरान जहां वायरस के डर से रेलवे स्टाफ यात्रियों से भरी ट्रेनों में जाने से कतरा रहा है। वहीं चोर आसानी से लोगों को शिकार बना रहे हैं। जीआरपी के जवानों की माने तो पकड़ आए गिरोह से एक दर्जन से अधिक मामलों के खुलासे होंगे।

आरोपियों को पकड़ने लगाए हैं मुखबिर
चोरी के मामले में आरोपियों को पकड़ने के लिए मुखबिर को सूचना के लिए लगाया गया है। कुछ संदेहियों से पूछताछ की जा रही है।
-अर्चना शर्मा, उप-पुलिस अधीक्षक रेल, जीआरपी, इटारसी

खबरें और भी हैं...