जंगल में दहशत / तेंदूपत्ता तोड़ने गए मजदूरों पर तेंदुए का हमला, भीड़ देख भागा

X

  • खंडवा वन परिक्षेत्र के सालई कक्ष क्रमांक 80 व कमलिया के बीट कक्ष क्रमांक 50 में दो दिन में 3 घटनाएं

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 05:00 AM IST

खंडवा.  तेंदूपत्ता तोड़ने जा रह मजदूराें पर तेंदुए ने हमला कर दिया। इससे तीन मजदूर घायल हो गए। हमले के बाद जंगल में दहशत है। घटना के बाद वन विभाग की टीम तेंदुए के पगमार्क ढूंढने में लगी है। जंगल में कैमरे में भी लगाए हैं, लेकिन उनमें तेंदुआ दिखाई नहीं दिया।  पहली घटना गुरुवार सुबह 7 बजे की है। सालई के जंगल में पंथिया नाला कक्ष क्रमांक 28 में सोनू के साथ , दूसरी घटना शुक्रवार सुबह 7 बजे कमलिया के कक्ष क्रमांक 50 की है। रमेश व तीसरी घटना संध्या पति रमेश निवासी चिचली के साथ हुई। घटना के बाद क्षेत्रों में दहशत के मारे मजदूर तेंदूपत्ता तोड़ने जंगल नहीं गए। 
1.दो मिनट संघर्ष नहीं करता तो बचना मुश्किल था 
घायल साेनू ने बताया तेंदूपत्ता तोड़ने के लिए सुबह 7 बजे मैं पिता तुकाराम, बहन सुलोचना, राधेश्याम व पार्वतीबाई पत्ते तोड़ते हुए जंगल में अंदर की ओर चले गए। तेंदुआ गुर्राया और मुझ पर टूट पड़ा। जैसे ही उसने मुझ पर हमला किया, मैंने उसके दोनों पैरों को पकड़ लिया। मैं चिल्लाया तो करीब दो सौ फीट दूरी से मेरे पिता व उनके साथियों ने छू-छूकर चिल्लाया ताे तेंदुआ छोड़कर भाग गया। 
2.जंगल में अकेला होता तो बचना मुश्किल था 
घायल रमेश गणपत ने बताया शुक्रवार सुबह गांव के 50 मजदूर डेढ़ किमी की रेंज में तेंदूपत्ता तोड़ रहे थे। तेंदुए ने छलांग मारी।  मैं साइड में गिरा। मैंने जोर से चिल्लाया, साथी मजदूरों ने ललकारा। उनकी आवाज सुन तेंदुआ छोड़कर भाग गया। गले व पीठ के पीछे पंजे के नाखून लगे। कपड़े भी फट गए, लेकिन जान बच गई। भगवान का शुक्र है कि मैं जंगल में अकेला नहीं था। नहीं तो बचना मुश्किल था।
3.मैंने तेंदुए पर हमला किया, उसके मुंह में हाथ घुस गया 
संध्या रमेश ने बताया 30 मजदूर 500 मीटर की रेंज में तेंदूपत्ता तोड़ रहे थे। तेंदुए ने सामने से छलांग मारी। मैं डरी नहीं, उस पर प्रहार किया, मेरा हाथ तेंदुए के मुंह में घुसा। हाथ को तेजी से बाहर निकाली। पूरा हाथ खून से भरा हुआ था। मैं चिल्लाई ताे पत्ते तोड़ रहे सभी लोग आ गए। भीड़ देखकर तेंदुआ भाग गया। घटना के बाद हमने काम बंद कर दिया। 
पगमार्क ढूंढने में लगा वन विभाग
दो दिन में तीन मजदूरों पर हमला होने के बाद वन विभाग की टीम पगमार्क ढूंढ रही है। खंडवा वन परिक्षेत्र अधिकारी विजय सिंह चौहान ने बताया गर्मी के कारण जमीन सूखी व ठोस हो जाने से पगमार्क नहीं मिले हैं। जंगल में कैमरे लगाकर सर्चिंग कर रहे हैं। मजदूरों को सतर्क किया गया है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना