पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Khandwa
  • Number 4 Unit's Turbine Starts To Open, It Will Tell Whether The Blade Is Broken By Sodium Water

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

संत सिंगाजी ताप परियोजना:4 नंबर यूनिट की टरबाइन खोलना शुरू, इससे पता चलेगा सोडियम के पानी से ब्लेड टूटी या नहीं

खंडवा4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • 30 करोड़ से अधिक का नुकसान होने के बाद भी जिम्मेदारी तय नहीं, मामले को दबा रहे एमपीपीजीसीएल के वरिष्ठ अफसर

संत सिंगाजी ताप परियोजना के फेस-2 की दोनों सुपर क्रिटिकल यूनिट एमपीपीजीसीएल के लिए गले की फांस बन गई है। तीन नंबर यूनिट के टरबाइन के रोटर की ब्लेड टूटने के बाद चौथी यूनिट में कुछ इसी तरह की परेशानी आई है। अब यह यूनिट भी बंद कर टरबाइन को खोला जा रहा है। अफसरों का कहना है इससे पता चलेगा कि सोडियम के पानी से रोटर की ब्लेड को नुकसान पहुंचा है या नहीं। इधर, एमपीपीजीसीएल मुख्यालय के अफसर मामले को दबाने का भरसक प्रयास कर रहे हैं। करीब एक माह पहले तीन नंबर यूनिट के पीजी (परफार्मेंस गारंटी) टेस्ट के दौरान टरबाइन में वाइब्रेशन के कारण बंद कर दिया गया था। जापान के इंजीनियरों को बुलाना पड़ा। उनकी सलाह पर टरबाइन खोलने पर पता चला कि रोटर की ब्लेड टूटी है और जंग लग चुका है। कुछ ही दिन बाद चार नंबर यूनिट में वाइब्रेशन होने पर इसे भी बंद कर दिया गया। ऊर्जा विभाग ने मामले की जांच एनटीपीसी के एक्सपर्ट से कराई। इसमें संभावना जताई गई कि सोडियम का पानी अंदर पहुंचने से रोटर को नुकसान पहुंचा है। इसे देखते हुए चार नंबर यूनिट भी खोलनी शुरू कर दी है। अगर सोडियम के पानी से यह समस्या आई है तो चार नंबर यूनिट का रोटर भी खराब हुआ होगा। इसका पता जल्द चलेगा। विशेष बात तो यह है कि एक माह से यूनिट बंद होने के बाद भी अब तक किसी अफसर की जिम्मेदारी तय नहीं की गई है और मामले को दबाने का प्रयास किया जा रहा है।

एलएंडटी पावर भी बराबर की जिम्मेदार
फेस-2 की दोनों यूनिट का निर्माण एलएंडटी पावर द्वारा किया गया है। टरबाइन में वाइब्रेशन पीजी टेस्ट के दौरान हुआ था। टेस्ट के दौरान एमपीपीजीसीएल अफसरों के साथ एलएंडटी पावर के इंजीनियर भी मौजूद थे। उन्हें भी वाइब्रेशन की समस्या को तत्काल पहचानना था। मामले में जितनी जिम्मेदारी एमपीपीजीसीएल अफसरों की है, उतनी ही एलएंडटी पावर भी बनती है।

ऊर्जा सचिव भी नहीं कर सके कार्रवाई... भास्कर ने छह दिन पहले प्रकाशित समाचार में ऊर्जा विभाग के प्रमुख सचिव संजय दुबे से चर्चा को भी शामिल किया था। उन्होंने कहा था कि दो दिन में दोषी अफसरों की पहचान कर कार्रवाई की जाएगी। एक सप्ताह बाद भी मामला जस का तस है। 30 से 35 करोड़ रुपए का नुकसान होने के बावजूद दोषी तय नहीं कर पाए।

रबी सीजन में होगा बड़ा नुकसान
सिंगाजी परियोजना से हर साल रबी सीजन में सर्वाधिक बिजली उत्पादन किया जाता है। करीब एक पखवाड़े में डिमांड मिलना शुरू हो जाएगी। फेस-2 की 1320 मेगावाट की दोनों यूनिट बंद हैं। इससे शासन को रोजाना लगभग 3 करोड़ रुपए का नुकसान हो रहा है। बिजली उत्पादन नहीं होने का विपरीत असर रबी सीजन पर भी देखने को मिल सकता है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आपने अपनी दिनचर्या से संबंधित जो योजनाएं बनाई है, उन्हें किसी से भी शेयर ना करें। तथा चुपचाप शांतिपूर्ण तरीके से कार्य करने से आपको अवश्य ही सफलता मिलेगी। परिवार के साथ किसी धार्मिक स्थल पर ज...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser