हरियाली अमावस्या आज:ओंकार पर्वत ने सावन में ओढ़ी हरियाली की चादर

खंडवा/ओंकारेश्वर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

ओंकारेश्वर पर्वत ने सावन में हरियाली की चादर ओढ़ ली है। यह दृश्य देश के विभिन्न राज्यों से आने वाले श्रद्धालुओं को आकर्षित कर रहा है। वन विभाग के मुताबिक इंदिरा सागर व ओंकारेश्वर बांध के किनारे वाले विस्थापित गांवों में पेड़, पौधे, वनस्पति के कारण जंगल का दायरा बढ़ा है। ओंकार पर्वत पर 4 साल पहले 36 हेक्टेयर में रोपे गए 36 हजार पौधे अब पेड़ बन रहे हैं।

इधर, हरियाली अमावस्या से एक दिन पहले भी शनिवार को बड़ी संख्या में श्रद्धालु ओंकारेश्वर पहुंचे। विभिन्न घाटों पर स्नान और पूजन के लिए श्रद्धालुओं की भीड़ थी। रविवार को भी बड़ी संख्या में श्रद्धालु ओंकारेश्वर आएंगे। सात किमी मीटर लंबी ओंकार पर्वत की परिक्रमा भी करेंगे। आगामी तीन दिनों में दो लाख भक्तों के आने की उम्मीद है।

ऐसे बढ़ा जंगल और हरियाली

  • 2017 की तुलना में जिले में खुले वन 2032.00 थे, जबकि 2019 की रिपोर्ट के मुताबिक यह आंकड़ा 2089.12 हो गया। - 61.52 फीसदी दायरा बढ़ा है।
  • 2019 की रिपोर्ट के मुताबिक निमाड़ में खंडवा जिले में हरियाली का दायरा सबसे ज्यादा बढ़ा है।
  • 2017 में यह 708273 वर्ग किमी यानी करीब 21.54% था।
  • 1161.00 से घटकर 1156.08 पर आ गया साधारण सघन वन। यानी 4.20 फीसदी कम हो गए हैं।
  • 7 लाख 12 हजार वर्ग किमी के साथ भारत की 21.67% भूमि पर वन आवरण है देश में।

नोट- जानकारी इंडिया स्टेट ऑफ फॉरेस्ट की रिपोर्ट के अनुसार

खबरें और भी हैं...