पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Khandwa
  • Only 70% Of Firecrackers Are Manufactured, Prices Will Not Increase, They Will Sell More Than Last Year

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

पिछले साल 10 प्रतिशत बढ़े थे दाम:70% पटाखों का ही निर्माण, नहीं बढ़ेंगे दाम, पिछले साल से भी ज्यादा बिकेंगे

खंडवाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • लॉकडाउन के कारण पटाखा फैक्ट्रियों से 40% कर्मचारी किए थे बाहर

कोरोना संक्रमण के कारण लगे लॉकडाउन का असर पटाखा फैक्ट्रियों पर भी पड़ा। 40 प्रतिशत मजदूरों को काम से हटाने के कारण इस साल पटाखों का निर्माण 70 प्रतिशत तक ही हो पाया। इसी के चलते इस बार दिवाली पर पटाखा बाजार में कम पटाखे दिखाई देंगे। पटाखाें के थोक व्यवसायी इमरान परियानी ने बताया वे और उनके साथी थोक व्यापारी शिवाकाशी, जबकि अन्य फुटकर व्यापारी जलगांव, इंदौर, हरदा व जबलपुर से पटाखा की खरीदी करते हैं।

इन स्थानों पर स्थित पटाखा बनाने वाली फैक्ट्रियों में इस साल लॉकडाउन के चलते 40% तक मजदूरों को काम से हटा दिया गया। जिसके चलते प्रोडक्शन 70% ही हो पाया है। बाजार में पटाखे तो कम आएंगे, लेकिन पिछले साल की तुलना में ज्यादा बिक्री होगी।

6 नवंबर तक आवंटित करेंगे दुकानें

नगर निगम के प्रभारी बाजार अधिकारी अशाेक तारे ने बताया कलेक्टोरेट से लाइसेंस जारी होने के बाद जो आवेदक नगर निगम में आवेदन करेगा, उन्हें 5 व 6 नवंबर तक दुकानें आवंटन कर देंगे। दुकानें कहां दी जाएंगी अभी स्थान तय नहीं हुआ है।

लाइसेंस जारी करना चुनौती

लाइसेंस लेने के आवेदन की अंतिम तारीख 28 अक्टूबर है। लाइसेंस 2 नवंबर तक तक देंगे। 24,25 व 26 को अवकाश के बाद व्यवसायियों को लाइसेंस के लिए आवेदन देने के लिए केवल 27 व 28 अक्टूबर का ही दिन मिलेगा। 30 अक्टूबर से 1 नवंबर तक फिर शासकीय छुट्टियां आ जाएगी, ऐसे में लाइसेंस बनाने में परेशानी होगी।

दुकानों की जगह तय नहीं

दिवाली पर्व को 19 दिन लेकिन अब तक दुकानें कहां लगेगी यह तय नहीं हो पाया है। पिछले साल खेल संस्थाओं ने स्टेडियम पर दुकानें लगाने को लेकर आपत्ति जताई थी। इस साल सूरजकुंड स्थित पुराना बस डिपो, आईटीआई मैदान सिहाड़ा रोड, नई अनाज मंडी जैसे वैकल्पिक स्थान बताए गए हैं।

पिछले साल दिवाली पर तेज बारिश ने पटाखों पर फेर दिया था पानी

पटाखा व्यापारी ललित कुशवाह ने बताया इस साल पटाखा बाजार में रौनक रहेगी। लोगों द्वारा समय से पहले पटाखे खरीदने की संभावना है। प्रोडक्शन कम होने से इस बार पटाखे भी कम रहेंगे। पिछले साल बारिश के चलते लोग पटाखे नहीं फोड़ सके थे। व्यापारियों के पटाखे भी बच गए थे। इस साल अधिक पटाखे बिकने की उम्मीद है।

जिले में 650 और शहर में 125 दुकानें लगेंगी

पिछले साल 135 व्यवसायियों ने पटाखा दुकानें लगाने के लिए लाइसेंस लिए थे। 115 ने स्टेडियम पर दुकानें लगाई थीं। इस साल करीब 200 लोगों ने आवेदन किए हैं, जिसमें से 125 दुकानें लगेंगी।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- रचनात्मक तथा धार्मिक क्रियाकलापों के प्रति रुझान रहेगा। किसी मित्र की मुसीबत के समय में आप उसका सहयोग करेंगे, जिससे आपको आत्मिक खुशी प्राप्त होगी। चुनौतियों को स्वीकार करना आपके लिए उन्नति के...

और पढ़ें