पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Khandwa
  • Pushpak Express Passed At A Speed Of 110 Kmph From Chandni Railway Station, Building Collapsed With Vibration

दुष्यंत कुमार की कविता हो गई:रेल गाड़ी 110 किमी प्रतिघंटे की स्पीड से गुजरी, स्टेशन की 14 साल पुरानी बिल्डिंग पहले तो थरथराई, फिर भरभराकर गिर गई

बुरहानपुर2 महीने पहले

बुरहानपुर जिले के नेपानगर से असीरगढ़ के बीच बुधवार को बड़ा हादसा टल गया। यहां जंगल में स्थित चांदनी रेलवे स्टेशन बिल्डिंग पुष्पक एक्सप्रेस की तेज रफ्तार से गुजरने के दौरान हुए कंपन से भरभराकर गिर गई। गनीमत रही कि इसमें कोई हताहत नहीं हुआ। बताया जा रहा है कि हादसे के वक्त ट्रेन की स्पीड करीब 110 किमी प्रति घंटे थी और वह हर दिन लगभग इसी रफ्तार से गुजरती है। देश में संभवतः यह ऐसी पहली घटना है, जिसमें रेलवे स्टेशन की बिल्डिंग ट्रेन गुजरने से गिरी हो। यह बिल्डिंग केवल 14 साल पुरानी है।

इस हादसे से यकायक दशकों पहले लिखी दुष्यंत कुमार की चंद लाइनें लोगों के जहन में ताजा हो आईं। इसमें दुष्यंत कहते हैं- तू किसी रेल सी गुजरती है, मैं किसी पुल सा थरथराता हूं। तू भले रत्ती भर ना सुनती है, मैं तेरा नाम बुदबुदाता हूं। इस कविता की ही तर्ज पर यहां ट्रेन के गुजरते ही पुल की जगह रेलवे स्टेशन की बिल्डिंग थरथराती हुई गिर पड़ी।

जानकारी के अनुसार दोपहर करीब 4 बजे यह हादसा हुआ। कंपन इतना तेज था कि स्टेशन सुप्रिटेंडेंट के कमरे की खिड़कियों के कांच फूट गए। बोर्ड नीचे गिर गए। मलबा प्लेटफाॅर्म पर बिखर गया। मौके पर तैनात ASM प्रदीप कुमार पवार ट्रेन को हरी झंडी दिखाने बाहर निकले। लेकिन बिल्डिंग गिरती देख फौरन वहां से दूर हो गए।

सूचना मिलते ही भुसावल से ADRM मनोज सिंहा, खंडवा ADN अजय सिंह, सीनियर DN राजेश चिकले पहुंचे। उन्होंने घटना की जानकारी ली। मौके पर भुसावल, खंडवा, बुरहानपुर की RPF और GRP को तैनात किया गया है।

दिल्ली-मुंबई का सबसे बिजी ट्रैक
चांदनी रेलवे स्टेशन देश के सबसे बिजी मुंबई-दिल्ली रेलवे ट्रैक पर है।घटना के बाद पुष्पक एक्सप्रेस 1 घंटे तक खड़ी रही। इसके अलावा, अन्य गाड़ियां करीब 30 मिनट तक प्रभावित हुईं। शाम करीब 6 बजे तक चार ट्रेनों को आउटर पर रोका गया। धीरे-धीरे एक-एक ट्रेन को निकाला गया। इस समय अप और डाउन की सभी ट्रेनों को अथॉरिटी लेटर देकर कॉशन पर निकाला जा रहा है। भुसावल DRM विवेक कुमार गुप्ता के मुताबिक चांदनी स्टेशन के बिल्डिंग के एक हिस्से का छज्जा टूटा है, जिसे रिपेयर कर लिया जाएगा। जांच के लिए टीम मौके पर पहुंची है। सभी ट्रेनें नियमित चला रहे हैं। ज्यादा नुकसान नहीं हुआ।

रेलवे का दावा- भ्रष्टाचार का आरोप गलत

हादसे को लेकर मध्य रेलवे के मुख्य पीआरओ शिवाजी सुतार ने कहा है कि मामले की जांच की जा रही है। केवल छज्जा क्षतिग्रस्त हुआ है। ढांचे को सपोर्ट प्रदान किया गया है। किसी तरह का जान-माल या यातायात प्रभावित नहीं हुआ है। ट्रेन रोजाना इसी स्पीड से गुजरती है, ऐसे में नहीं कहा जा सकता है कि कंपन के कारण छज्जा गिरा। जांच होगी। भ्रष्टाचार का आरोप गलत है।

खबरें और भी हैं...