• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Khandwa
  • Said I Will Fight The Election Of 2024 Absolutely 100% To Strengthen The Congress; Filled The Pits On The Seats That Lost 40 40 Thousand

अरुण यादव को राजनारायण की चुनौती:बोले- 2024 का खंडवा लोकसभा चुनाव 100% लडूंगा; 40-40 हजार की हार वाली सीटों पर गड्‌ढे भरे

खंडवा3 महीने पहले

खंडवा लोकसभा उपचुनाव में 82 हजार वोट से कांग्रेस के राजनारायण सिंह पुरनी हार गए हैं। उन्होंने कहा कि मैं हार कर भी जीता हूं। मंगलवार को मतगणना स्थल छोड़ते हुए उन्होंने 2024 का चुनाव लड़ने का ऐलान कर दिया है।

भास्कर से एक्सक्लूसिव बातचीत में उन्होंने कहा कि मैं 2024 का चुनाव 100% लडूंगा। जिन सीटों से BJP 40-40 हजार वोट से जीतती थी, कांग्रेस बराबरी पर ले आई है। मांधाता उपचुनाव में 22 हजार वोट की हार का गड्ढा भरा और यहां मैंने 8 हजार वोट से लीड ली। कुल 2 लाख वोट कवर किए हैं। पुरनी का यह संकेत अरुण यादव के लिए किसी झटके से कम नहीं है, क्योंकि इस सीट से अरुण यादव लड़ते हैं। उपचुनाव में ऐन वक्त पर वे पीछे हट गए थे।

उन्होंने कहा कि उपचुनाव की घोषणा के बाद कांग्रेस ने मुझे बुलाकर टिकट दिया। मेरी कोई तैयारी नहीं थी, मुझे अपनी टीम बनाने का समय भी नहीं मिला। बावजूद शुरू से आखिरी तक BJP को टक्कर दी। उनके कार्यकर्ता असमंजस में पड़ गए कि BJP जीतेगी भी या हार जाएगी। अब 2024 का चुनाव लड़ेंगे और कांग्रेस को मजबूत करेंगे।

मांधाता, भीकनगांव जीते, पंधाना-खंडवा में बराबरी
खंडवा लोकसभा सीट के उपचुनाव में मांधाता विधानसभा क्षेत्र में BJP को 56 हजार 184 वोट मिले, जबकि यहां से कांग्रेस को 64 हजार 671 वोट मिले हैं। इस सीट पर कांग्रेस ने 8 हजार 487 वोट से लीड हासिल की। इसी तरह भीकनगांव विधानसभा क्षेत्र में BJP को 66 हजार 728 और कांग्रेस को 69 हजार 692 वोट मिले। कांग्रेस ने यहां से भी 2 हजार 964 वोट की बढ़त ली। वहीं 2019 में कांग्रेस खंडवा और पंधाना विधानसभा सीट पर 40 से 50 हजार वोट से हारी थी, लेकिन इस बार हार का अंतर पंधाना में 4 हजार 801 और खंडवा में 4 हजार 869 रहा।

खंडवा उपचुनाव में ADM को खरी-खोटी:कांग्रेस कैंडिडेट बोले - चम्मचगिरी की हद हो गई, शिवराजसिंह तुम्हें फांसी चढ़ा देगा, BJP सोने की माला पहना देगी

कांग्रेस की टूरिज्म पॉलिटिक्स, अरुण यादव की सिर्फ 1 सभा
खंडवा उपचुनाव के दौरान कांग्रेस टूरिज्म पॉलिटिक्स का शिकार रही। यानी जितने भी बाहरी नेता थे, वह सिर्फ मुख्यमंत्री कमलनाथ की सभा के समय आते और पीछे-पीछे चले जाते। पूर्व सांसद और PCC अध्यक्ष अरुण यादव निमाड़ के एकमात्र कांग्रेस के दिग्गज नेता थे। बतौर स्टार प्रचारक उन्होंने उपचुनाव में सिर्फ 1 सभा की, बाकी वह कमलनाथ, सचिन पायलट या फिर कांग्रेस कैंडिडेट की सभा में शामिल रहे।

खंडवा उपचुनाव में ADM को खरी-खोटी:कांग्रेस कैंडिडेट बोले - चम्मचगिरी की हद हो गई, शिवराजसिंह तुम्हें फांसी चढ़ा देगा, BJP सोने की माला पहना देगी

शिवराज ने अगले चुनाव के लिए ठोंक दी ताल?:क्या कमलनाथ के सिर फूटेगा हार का ठीकरा... सवाल-जवाबों में समझिए MP उपचुनाव के नतीजे

खबरें और भी हैं...