बादल छा रहे, बरस नहीं रहे... / दक्षिण गुजरात-अरब सागर का सिस्टम पहले सप्ताह में करा सकता है बारिश

South Gujarat-Arabian Sea system can rain in first week
X
South Gujarat-Arabian Sea system can rain in first week

  • क्याेंकि... अभी 70-80% है नमी, बरसने के लिए चाहिए 90% या इससे ऊपर

दैनिक भास्कर

Jul 01, 2020, 04:00 AM IST

खंडवा. दक्षिण गुजरात और  अरब सागर में ऊपरी हवा का चक्रवात स्ट्रांग हाे रहा है। इससे जुलाई के पहले सप्ताह में अच्छी बारिश हाेने की संभावना है। शुरुआत के दाे-तीन दिन राहत नहीं मिलेगी। फिलहाल बादल छा रहे हैं, लेकिन बरस नहीं रहे हैं, क्याेंकि अच्छी बारिश के लिए मॉर्निंग में 90 प्रतिशत तक नमी होनी चाहिए, जबकि अभी 70 से 80 प्रतिशत ही है। इस कारण यहां बारिश नहीं हो रही है। फिलहाल कोई सिस्टम भी सक्रिय नहीं है।

इधर मंगलवार को गर्मी और उमस के कारण लोग परेशान हो गए। अधिकतम तापमान 35.5 व न्यूनतम 23 डिग्री रिकार्ड हुआ। मौसम विभाग के विशेषज्ञ पीके साहा ने बताया जुलाई की शुरुआत में हलकी बारिश हो सकती है। दो या तीन दिन बाद साउथ गुजरात और अरब सागर का सिस्टम सक्रिय होगा, जिससे अच्छी बारिश होगी। वैसे भी खंडवा में अच्छी बारिश होती है, इस बार भी संभावना है। इधर जिले में 3 लाख 10 हजार हैक्टेयर रकबे में खरीफ फसल की बोवनी होनी है। निसर्ग तूफान के भरोसे 2.50 लाख हैक्टेयर में किसान बोवनी कर चुके हैं। मानसून की लंबी खेंच के कारण कई जगह बीज सड़ चुके हैं। कई किसानों ने दोबारा बोवनी करने की तैयारी शुरू कर दी है। 

मौसम वैज्ञानिक बोले- पांच जुलाई तक प्रदेश में मानसून गतिविधियां सक्रिय रहने की संभावना
समुद्र तल पर मानसून द्रोणिका का पश्चिमी छोर अपनी सामान्य स्थिति के निकट है एवं और पूर्वी छोर औसत समुद्र तल से 1.5 किमी ऊपर तक इसकी सामान्य स्थिति से उत्तर की ओर है। औसत समुद्र तल से ऊपर, 3.1 किमी एवं 4.5 किमी के बीच, एक चक्रवाती परिसंचरण उत्तरी छत्तीसगढ़ और आसपास के क्षेत्रों  में स्थित है। इसके प्रभाव के कारण आगामी 3 दिनों के दौरान मध्य प्रदेश एवं इससे सटे भारत के उत्तरी हिस्सों में कुछ स्थानों से अनेक स्थानों पर वर्षा की संभावना है। मध्य प्रदेश में कहीं-कहीं भारी वर्षा व कहीं-कहीं भारी से बहुत भारी वर्षा हाे सकती है।

जून का लेखा : 26 को आखिरी बार हुई थी बारिश 
जून के पहले सप्ताह में निसर्ग तूफान के कारण अच्छी बारिश हुई थी। 15 जून को मानसून की आमद हो गई। शहर में 17 जून को और 26 जून को आधा घंटा बारिश हुई थी। शहर में अब तक 11 इंच से अधिक बारिश हो चुकी है। 

आगे क्या : 2 के बाद हो सकती है तेज बारिश 
1 जुलाई को प्रदेश में कहीं-कहीं भारी वर्षा हो सकती है। 2 जुलाई को पूर्वी प्रदेश में भारी से भारी वर्षा के साथ बौछारें पड़ने की संभावना है। 3,4 और 5 से 7 जुलाई को प्रदेश में कहीं-कहीं भारी से बहुत भारी वर्षा हो सकती है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना