पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

अपराध:मकान मालिक के रिश्तेदार बन फर्जी वसीयत बनवाकर बेचा मकान

खंडवाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

जसवाड़ी रोड स्थित नीलकंठेश्वर वार्ड में मुख्य मार्ग पर 24 साल पहले रजिस्टर्ड वसीयत किए हुए मकान के फर्जी दस्तावेज तैयार कर दादी-पोती और उनके साथियों ने मकान बेच दिया। इतना ही नहीं वहां रह रहे दो भाइयों को भी मकान से बेदखल कर मकान में तोड़फोड़ कर कब्जा कर लिया।

शिकायतकर्ता संजय पिता दिलीपसिंह मौर्य व महेंद्र कुमार पिता दिलीपसिंह मौर्य निवासी राजीव नगर ने कलेक्टर, एसपी, उपपंजीयक कार्यालय व कोतवाली पुलिस को लिखित कर न्यायालय में आपत्ति लगाई, जिसके बाद मकान निर्माण पर रोक लग गई है। शिकायतकर्ता ने बताया नीलकंठेश्वर वार्ड स्थित हमारे कब्जे व मालकी संपत्ति जिसका शीट नंबर 4 प्लाट नंबर 11 क्षेत्रफल 2149 वर्गफीट है। 1996 से इस मकान के मालिक मूलचंद पिता पाचूराम शर्मा थे। जिन्होंने अपनी मालकी संपत्ति को संजय मौर्य व महेंद्र मौर्य के बाल्यकाल में उनकी माता प्रेमलताबाई पति दिलीपसिंह को नाबालिग का वली बनाते हुए 23 अप्रैल 1996 को वसीयतनामा लिखा गया। जो कि 25 अप्रैल 96 को पंजीकृत हो गया।

जिसका पंजीयन क्रमांक 12/00 है। जिसमें सुभान खान व रमाकांत पहारे दो साक्षी है। उक्त संपत्ति पर मकान बना हुआ है जिस पर संजय व महेंद्र का कब्जा था। शिकायतकर्ता का आरोप है कि माला तिवारी पिता भारतलाल (40) निवासी जसवाड़ी रोड ऑटोमोबाइल के पास व उसकी दादी चंद्रगाभा तिवारी पति ब्रजमोहन तिवारी (80) निवासी जसवाड़ी रोड ने वसीयत की हुई संपत्ति के कूटरचित दस्तावेज तैयार कर खुद को मूलचंद शर्मा का रिश्तेदार बताते हुए एक फर्जी वसीयत बनवाकर उक्त संपत्ति को मुकेश पिता गंगाराम परचानी निवासी गली नंबर तीन सिंधी कॉलोनी को 17 जुलाई 20 को 39 लाख 53 हजार रुपए में दो लोगों को गवाह बनाकर बेच दी।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- इस समय ग्रह स्थितियां पूर्णतः अनुकूल है। सम्मानजनक स्थितियां बनेंगी। विद्यार्थियों को कैरियर संबंधी किसी समस्या का समाधान मिलने से उत्साह में वृद्धि होगी। आप अपनी किसी कमजोरी पर भी विजय हासिल...

    और पढ़ें