पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Khandwa
  • The Story Of Husband And Boatman Is Different, The Mark On The Neck Of The Deceased Will Reveal The Secret Of Death Today

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

साजिश:पति व केवट की कहानी अलग, मृतका के गले पर निशान आज खोलेगा मौत का राज

खंडवा4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • पोस्टमार्टम रिपोर्ट के इंतजार में पुलिस, संदेही कंपाउंडर पति और बालक से पूछताछ
  • 25 दिसंबर की रात इंदौर की ओर से ओंकारेश्वर लौटते वक्त भोगांवा की नहर में गिरी थी कार

ओंकारेश्वर-सनावद मार्ग पर भोगांवा के पास 25 दिसंबर की रात 9.15 बजे नर्मदा नदी की नहर में कार गिरने की घटना षड्यंत्र का हिस्सा मानी जा रही है। कथित हादसे में ओंकारेश्वर के सरकारी अस्पताल में पदस्थ कंपाउंडर अभिषेक चतुर्वेदी की पत्नी गरिमा की मौत हो गई थी, जबकि कंपाउंडर और उसके साथ कार में मौजूद बालक गौतम केवट बच गए थे। हालांकि रविवार को भी मृतका गरिमा की पोस्टमार्टम रिपोर्ट नहीं आई। क्योंकि पूरा सच रिपोर्ट में ही छिपा है। दुर्घटना के बाद मृतका के पति अभिषेक ने पुलिस को जो कहानी बताई है, हकीकत उससे अलग ही है। अब तक हुई जांच में पति पर ही संदेह जताया जा रहा है। बताया जा रहा है कि पति ने ही रस्सी से गला घोंटकर पहले गरिमा की हत्या की फिर पानी में कार गिराने का नाटक किया। मृतका के गले में रस्सी का निशान भी मिला है। पानी में डूबने के कुछ देर बाद ही गरिमा की मौत हुई है। इधर, पुलिस की पूछताछ में बालक गौतम केवट भी पुलिस को अब अलग कहानी बता रहा है।

संदेह के यह कारण

गरिमा के गले में रस्सी के निशान मिले हैं, जिससे प्रतीत हो रहा है कि हादसा नहीं हत्या है। दुर्घटना के समय कार के टायर फटने की बात कही जा रही थी, जबकि एक भी टायर नहीं फटा। दुर्घटनास्थल पर कोई रगड़ या दूसरा कोई अन्य निशान नहीं मिले। अगर गाड़ी रगड़ खाती तो निशान मिलते। अपनी कार में अभिषेक बालक गौतम को साथ में क्यों ले गया। गौतम बहुत अच्छा तैराक है। दोनों बच गए। पुलिस पूछताछ में दोनों अलग-अलग कहानियां क्यों बता रहे हैं।

गरिमा के परिजन भी कर रहे पड़ताल

बेटी की मौत की खबर सुन बड़वानी से आए गरिमा के पिता व परिजन भी ओंकारेश्वर व आसपास के क्षेत्रों में मामले की जांच-पड़ताल कर रहे हैं। पिता का कहना है कि मेरी बेटी की हत्या हुई है तो दोषी बचना नहीं चाहिए और अगर ये हादसा हो तो भगवान मेरी बेटी की आत्मा को शांति प्रदान करना।​​​​​​​

बयानों ने बदली कहानी, इसलिए लग रही हत्या
पुलिस ने इस मामले में दोनों से अलग-अलग पूछताछ की है। रविवार सुबह गौतम केवट के भी बयान हुए। अब जो बात सामने आ रही है उससे स्पष्ट हो गया है कि गरिमा की मौत हादसा नहीं, बल्कि हत्या है और हत्या का आरोपी भी कोई और नहीं, उसका अपना ही है। इस मामले में सोमवार को पुलिस खुलासा कर सकती है। हालांकि इस मामले को लेकर पुलिस अधिकारी कुछ भी बोलने से बचकर पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार कर रहे हैं।
पति-पत्नी में होता था विवाद
अभिषेक चतुर्वेदी का वैसे तो सभी लोगों से अच्छा व्यवहार है, लेकिन घर में उनकी पत्नी से बनती नहीं थी। चर्चा यह भी है कि पत्नी से वह छुटकारा चाहता था। दोनों के बीच अकसर विवाद होता था।
फिलहाल पीएम रिपोर्ट नहीं आई
^ फिलहाल पोस्ट मार्टम रिपोर्ट नहीं आई है। मामले में बारीकी से पड़ताल की जा रही है। केवट बालक के बयान हो चुके हैं। फिलहाल इससे ज्यादा कुछ नहीं कह सकते।
-जगदीशचंद पाटीदार, टीआई, मांधाता


खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- किसी भी लक्ष्य को अपने परिश्रम द्वारा हासिल करने में सक्षम रहेंगे। तथा ऊर्जा और आत्मविश्वास से परिपूर्ण दिन व्यतीत होगा। किसी शुभचिंतक का आशीर्वाद तथा शुभकामनाएं आपके लिए वरदान साबित होंगी। ...

    और पढ़ें