पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Khandwa
  • The Wrestlers Are Preparing For The National Competition By Placing Bets On The Ground, Not On The Soil And Matt

छह माह बाद भी कार्य अधूरा:मिट्‌टी व मैट पर नहीं, पहलवान जमीन पर दांव लगाकर कर रहे हैं राष्ट्रीय स्पर्धा की तैयारी

खंडवाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी इंडोर स्टेडियम में व्यवस्थाओं का अभाव
  • क्योंकि सुधार के नाम पर हटा दिया गया मैट

यह है डॉ. श्यामाप्रसाद मुखर्जी इंडोर ऑडिटोरियम, जिले के नामी गिरामी पहलवान मिट्‌टी या मैट पर नहीं, चिकने फर्श पर राष्ट्रीय स्पर्धा की तैयारी कर रहे हैं। क्योंकि ऑडिटोरियम के सुधार के लिए नगर निगम ने छह महीने पहले खिलाड़ियों का मैट हटा दिया, अब तक सुधार नहीं होने से पहलवान अपने उस्तादों से जमीन पर ही कुश्ती के दांव सीख रहे हैं। सिविल लाइंस स्थित डॉ. श्यामाप्रसाद मुखर्जी इंडोर स्टेडियम से एक साल पहले नगर निगम ने निजी खेल संस्थाओं को किराया ना देने, बिजली बिल नहीं भरने के कारण बाहर कर दिया था। इसमें कुछ संस्थाएं ऐसी थी जो खिलाड़ियों को नि:शुल्क प्रशिक्षण दे रही थी। नगर निगम ने ऑडिटाेरियम के सुधार होने तक इन्हें भी कुछ समय तक बाहर कर दिया। छह महीने बाद भी सुधार कार्य पूरा नहीं हाेने पर कुश्ती के खिलाड़ी बिना मैट के ही यहां पर खेलने को मजबूर हैं।

प्रशिक्षक ऋषि सोनकर ने बताया नगर निगम व खेल विभाग का खेल व खिलाड़ियों पर ध्यान नहीं है। दोनों विभागों के पास हर साल लाखों रु. का मद सामग्री वितरण व खिलाड़ियों पर खर्च के लिए आता है लेकिन पिछले कई सालों से खिलाड़ियों को यह सुविधा नहीं मिली। ऋषि ने बताया मैट नहीं होने से वे ऑडिटोरियम के फर्श पर ही पहलवानों को आगामी स्पर्धाओं की तैयारी करवा रहे हैं।

खेल विभाग को देने के लिए हम तैयार हैं, विभाग मांगे तो
^इंडोर ऑडिटोरियम पर खेल गतिविधियां कराने का काम खेल विभाग का है, उन्हें हस्तांतरण के लिए हम तैयार हैं। कुछ महीनों से वहां काम चल रहा था, कुछ काम बाकी है। खेलकूद गतिविधियों के लिए विभाग लेना चाहे तो ले सकता है। संस्थाएं खेलें लेकिन कम से कम बिजली बिल व मेंटेनेंस का खर्च निकल जाए, उतना तो भुगतान करे। -हिमांशु भट्‌ट, आयुक्त, ननि

6.50 लाख खर्च होना थे, पुताई कर छोड़ दिया
सुधार कार्य के लिए ऑडिटोरियम पर 6.50 लाख रु. खर्च होना थे, जिसमें रंगाई, पुताई, छत मरम्मत, टूट-फूट मरम्मत, खिड़की, दरवाजों की मरम्मत शामिल था। छह महीने बीत गए नगर निगम अब तक यहां पर केवल रंगाई-पुताई करवाई और काम बंद कर दिया। ऑडिटोरियम की छत जर्जर है, कबूतरों की बीट से पूरा ऑडिटोरियम बदबू मार रहा है।

ऑडिटोरियम हमारे पास नहीं है, नगर निगम के पास है
ऑडिटाेरियम का हस्तांतरण पिछले दो साल से अटका है। अभी इसका संचालन नगर निगम ही कर रहा है। रही खेल सामग्री के वितरण की बात तो किसी भी खेल संस्था ने अभी तक हमें सामग्री के लिए आवेदन नहीं किया है। डिमांड आएगी तो हम उस आधार पर भोपाल से सामग्री मंगवाएंगे। वैसे भी पिछले आठ महीने से मुख्यालय से भी कोई खेल सामग्री नहीं आई है।
-रूचि शर्मा, जिला खेल अधिकारी

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज किसी समाज सेवी संस्था अथवा किसी प्रिय मित्र की सहायता में समय व्यतीत होगा। धार्मिक तथा आध्यात्मिक कामों में भी आपकी रुचि रहेगी। युवा वर्ग अपनी मेहनत के अनुरूप शुभ परिणाम हासिल करेंगे। तथा ...

और पढ़ें