कोरोना के विरुद्ध जंग / 7 हजार मास्क व 2100 लीटर सैनिटाइजर बेच चुकीं हैं महिलाएं

गांव में सिलाई मशीन से मास्क तैयार करती स्वसहायता समूह की महिलाएं। गांव में सिलाई मशीन से मास्क तैयार करती स्वसहायता समूह की महिलाएं।
X
गांव में सिलाई मशीन से मास्क तैयार करती स्वसहायता समूह की महिलाएं।गांव में सिलाई मशीन से मास्क तैयार करती स्वसहायता समूह की महिलाएं।

  • मास्क व सैनिटाइजर की कालाबाजारी रोकने का बीड़ा जिले के दाे महिला स्वसहायता समूहों ने उठाया है
  • मप्र राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन अंतर्गत जिले के साताें विकासखंड में कुल 2180 स्वसहायता समूह हैं

दैनिक भास्कर

Mar 27, 2020, 07:53 AM IST

खंडवा.  कोरोना वायरस के संक्रमण के समय मास्क व सैनिटाइजर की कालाबाजारी रोकने का बीड़ा जिले के दाे महिला स्वसहायता समूहों ने उठाया है। स्व सहायता समूह की ये महिलाएं 10 रु. में मास्क व 50 रु. में सैनिटाइजर समूह में ही तैयार कर सरकारी विभागाें काे उपलब्ध करा रही हैं। इनका उद्देश्य इन चीजाें की कालाबाजारी काे बाजार से खत्म करना और हर जरूरतमंद काे कम दाम पर उपलब्ध कराना है।

 
जिला पंचायत सीईओ रौशन कुमार सिंह ने बताया मप्र राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन अंतर्गत जिले के साताें विकासखंड में कुल 2180 स्वसहायता समूह हैं। वर्तमान में समूह की महिलाएं मास्क निर्माण कर रही हैं। समाजसेवा का यह अनूठा प्रयास है। समूहाें की महिलाओं द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए बुजुर्गों को मुफ्त में मास्क बांटे गए हैं। समूह की महिलाओं द्वारा अब तक ग्रामीण क्षेत्रों में 7000 मास्क बेचे गए हैं। ग्राम की नाेडल मीनू सिंह चाैहान ने बताया ये महिलाएं हर दिन 4500 मास्क बना रही हैं, जिन्हें वह शासकीय कार्यालयों में वितरित कर रही हैं। महिलाओं के द्वारा सैनिटाइजर भी बनाया जा रहा है। एनआरएलएम की जिला प्रबंधक नीलिमा सिंह ने बताया गाेकुलग्राम में राधा स्वामी स्वसहायता समूह की 11 महिलाएं सैनिटाइजर डब्ल्यूएचओ का फार्मूला अपनाकर बना रही है। 


सैनिटाइजर का निर्माण हाईड्राेजन पेराक्साइड, ग्लिसरिन, अल्काेहल व गुलाब जल मिलाकर बनाया जा रहा है। एक लीटर 500 रू, 100 रू. में 200 एमएल व 100 एमएल 50 रु. में उपलब्ध है। नीलिमा सिंह ने बताया महिलाएं एक दिन में 100 लीटर सैनिटाइजर तैयार कर रही हैं। उन्नति महिला आजीविका ग्राम संगठन व श्री साई कृपा आजीविका समूह बाेरगावं खुर्द के सरकारी भवन में समूह की महिलाओं द्वारा मास्क भी तैयार किए जा रहे हैं, जिसकी कीमत प्रति नग 10 रुपए है। समूह अध्यक्ष कविता पटेल ने बताया अब तक समूह द्वारा 1300 मास्क बनाकर बेचे गए। महिलाएं एक दिन में 500 मास्क तैयार कर रही हैं।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना