वैक्सीनेशन:ऑनलाइन पंजीयन न होने से भटक रहे लोग, ऑफलाइन की उठी मांग

सनावद6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सनावद सिविल अस्पताल। - Dainik Bhaskar
सनावद सिविल अस्पताल।

1 मई से 18+ वाले लोगों को कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए वैक्सीनेशन नहीं होगा। शासन ने इसकी तारीख आगे बढ़ा दी गई है। अभी घोषणा होना बाकी है लेकिन शासन स्तर पर तैयारी की जा रही है। वैक्सीनेशन को लेकर प्रशासनिक स्तर पर तैयारी कमजोर लग रही है।

पहले दिन वैक्सीन लगाने के लिए युवा बड़ी संख्या में उत्साहित है लेकिन वैक्सीनेशन का ऑनलाइन पंजीयन नहीं होने से युवाओं को भटकना पड़ रहा है। ऐसे में पहले दिन अस्पताल में टीका लगाने को लेकर बड़ी संख्या में भीड़ लग सकती है। इसे रोकने के लिए प्रशासन के पास कोई साधन नहीं है।

वैक्सीनेशन के लिए सनावद व बड़वाह के सिविल अस्पताल का चयन किया है। इसके लिए बड़वाह में पहले वाले स्थान को बदल कर अस्पताल परिसर में अन्य स्थान तय किया है। वहीं सनावद सिविल अस्पताल के बदल अब वैक्सीनेशन जवाहर मार्ग रोड स्थित शासकीय कन्या उमावि को चयनित किया है। अस्पताल के बाहर केंद्र बनाने का उद्देश्य छोटे स्थान पर अधिक लोग एकत्र न हो। साथ ही जिन लोगों का पंजीयन होगा। उन्हें वैक्सीनेशन किया जाएगा।

18 से 45 से अधिक आयु के अलग-अलग बनाए जाएंगे केंद्र

पंजीयन करने वाले लोगों को ही होगा वैक्सीनेशन

सीबीएमओ डॉ. राजेंद्र मिमरोठ ने बताया वैक्सीनेशन के लिए गाइड लाइन है। जिन लोगों ने वैक्सीनेशन के लिए आॅनलाइन पंजीयन कराया है, सिर्फ उन्हीं लोगों को वैक्सीन लगाई जाएगी। सनावद व बड़वाह के लिए 120-120 डोज आए है। 120 लोगों को ही पंजीयन किया जाएगा।

ओटीपी आने के बाद भी वैरिफिकेशन नहीं हो रहा

हेमेंद्र ठाकुर व योगेश सेंधरे ने बताया वैक्सीनेशन के लिए मोबाइल व कम्प्यूटर से लगातार पंजीयन करा रहे हैं लेकिन पंजीयन नहीं हो रहा है। ओटीपी आने के बाद साइट पर कोई वैरिफिकेशन नहीं हो रहा है। उन्होंने कहा- शासन को ऑनलाइन पंजीयन के साथ केंद्र पर आॅफलाइन पंजीयन की व्यवस्था भी रखना चाहिए, ताकि परेशानी न हो।

वर्तमान में बंद पड़ा है वैक्सीनेशन का काम

वर्तमान में 45 से अधिक आयु वालों को वैक्सीनेशन किया जा रहा है लेकिन केंद्र पर वैक्सीनेशन का काम नहीं हो रहा है। कई लोग यहां पर चक्कर काट कर लौट रहे हैं। लोगों ने बताया हर बार टीका नहीं होने के कारण वैक्सीनेशन बंद किया जाता है। शायद इस बार भी टीके खत्म हो गए हैं। इसके लिए टीकाकरण नहीं किया जा रहा है। उन्होंने बताया 1 मई से भीड़ अधिक हो जाएगी। तब शासन वैक्सीन की पूर्ति कैसे कर पाएगी।

खबरें और भी हैं...