पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

अव्यवस्था:बार-बार बिजली गुल होने से समय पर नहीं बांट रहे पानी, 1 दिन छोड़कर हो रहा वितरित

सनावद22 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
पानी के लिए मशक्कत करते रहवासी। - Dainik Bhaskar
पानी के लिए मशक्कत करते रहवासी।
  • शहर में 5 टंकियाें से होता है पानी का सप्लाय
  • टंकी नहीं भरने से आ रही समस्या

करीब 1 सप्ताह से आंधी आने से शहर में बार-बार बिजली गुल हो रही है। इसका असर लोगों के व्यापार-व्यवसाय के साथ अब पानी सप्लाय पर भी दिखाई देने लगा है। शहर में बार-बार बिजली गुल होने से नगर पालिका समय पर पानी का सप्लाय नहीं कर पा रही है। इसके कारण शहर में एक दिन छोड़कर तो कई स्थानों पर कम प्रेशर से पानी का सप्लाय किया जा रहा है। इसके कारण लोग पानी के लिए दिनभर इंतजार करते नजर आ रहे हैं।

जल शाखा के ताेताराम भाई ने बताया मोरटक्का स्थित इंटेकवेल पर 24 घंटे मोटरपंप से पानी फिल्टर प्लांट पर पानी भेजा जाता है। इसे शहर की टंकियों में भर कर पानी का सप्लाय किया जाता है लेकिन करीब एक सप्ताह से बार-बार बिजली गुल हो रही है। इसके कारण टंकियों में पानी नहीं जमा हो पा रहा है। ऐसे में जितना पानी एकत्र होता है। उसे शहर के विभिन्न वार्डों में सप्लाय कर दिया जाता है।

24 घंटे मोटर चलने के बाद ही शहर में पानी की पूर्ति होती है। रात के समय बिजली गुल होने पर बिजली कंपनी के कर्मचारी सुबह लाइन को दुरुस्त करते हैं। ऐसे में रातभर पानी नहीं भर पाता है। रहवासियों ने बताया गर्मी के दिनों में अधिक पानी लगता है। पहले ही कम प्रेशर से पानी आ रहा है। अब एक दिन छोड़कर पानी का सप्लाय किया जा रहा है। इससे शहर में जल संकट गहराने लगा है। नगर पालिका को पानी का नियमित सप्लाय करना चाहिए ताकि लोगों को परेशान न हो।

5 टंकियों को दो बार भरने के बाद होती है आपूर्ति
नपा कर्मचारियों ने बताया शहर में 6 लाख लीटर की 5 टंकियों से पानी का सप्लाय किया जाता है। जिसे दिन में दो बार भरा जाता है। इसके बाद शहर में नियमित पानी की पूर्ति होती है। इसके अतिरिक्त कुएं से भी पानी का सप्लाय होता है। रोजाना करीब 60 लाख लीटर पानी की आवश्यकता शहर में होती है। ऐसे में किसी कारण से पानी की टंकी नहीं भरती है तो शहर की सप्लाय व्यवस्था प्रभावित होती है।

खबरें और भी हैं...