विरोध / धरना-प्रदर्शन नहीं किया, कार्यालय में काली पट्टी बांधकर मनाया काला दिवस

X

  • विधायक रावत ने कहा- सूचना देरी से मिलने के कारण कार्यकर्ताओं ने कार्यालय में काली पट्टी बांधकर किया विरोध

दैनिक भास्कर

Jul 01, 2020, 04:00 AM IST

सेंधवा. प्रदेश में कांग्रेस की सरकार गिरने के बाद भाजपा की सरकार को 100 दिन होने पर मंगलवार को मप्र कांग्रेस कमेटी द्वारा कार्यकर्ताओं को ब्लॉक व जिला स्तर पर धरना प्रदर्शन कर काला दिवस मनाने के निर्देश दिए गए थे लेकिन शहर में कार्यकर्ताओं द्वारा काला दिवस नहीं मनाया। 
विधायक ग्यारसीलाल रावत ने कहा- हमें धरना प्रदर्शन करने की सूचना देरी से मिली थी। इसके चलते हमने कार्यालय में ही काली पट्टी बांधकर विरोध किया है। हालांकि जिला प्रवक्ता रवि अर्से ने प्रदेश कांग्रेस कमेटी का काला दिवस मनाने का पत्र सोमवार रात को कांग्रेस संगठनों के ग्रुप में पत्र डाला था। उसके बाद भी कार्यकर्ताओं ने काला दिवस मनाने में रुचि नहीं दिखाई। ब्लॉक अध्यक्ष कलीम मिस्कीन ने कहा- उन्हें कोई सूचना नहीं मिली। उनका स्वास्थ्य ठीक नहीं होने से वे इलाज के लिए शहर के बाहर थे। उन्होंने कहा- विधायक रावत का कॉल आया था। स्वास्थ्य ठीक नहीं होने से काला दिवस नहीं मनाया जा सका। 

प्रदेश कांग्रेस कमेटी से मिले थे ये निर्देश 
प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने 30 जून को काला दिवस मनाने के निर्देश दिए थे। इसमे भाजपा द्वारा की गई लोकतंत्र की हत्या का यह 100वां दिन है। इसको लेकर जिला व ब्लॉक स्तर पर धरना-प्रदर्शन आयोजित कर कार्यकर्ताओं को हाथ मे काले झंडे व काली पट्टी बांधकर विरोध करने के निर्देश दिए गए थे।


आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना