विश्वकर्मा जयंती पर निकली शोभायात्रा:विश्वकर्मा मंदिर में महापुराण का वाचन, हिंगलाज माता मंदिर में अखंड कीर्तन का समापन

महेश्वर7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

भगवान विश्वकर्माजी की जयंती महेश्वर के विश्वकर्मा समाज बंधुओं ने बड़े धूमधाम से मनाई। इस अवसर पर एमजी रोड स्थित विश्वकर्मा मंदिर में भगवान की पूजा करने के साथ ही विश्वकर्मा महापुराण का वाचन किया गया। सुबह समाज के नेतृत्व में भगवान की रथ यात्रा निकाली गई। रथ यात्रा के दौरान भगवान विश्वकर्मा रथ पर विराजित हुए।

समाज की महिला पुरुष ढोल ताशों की धुनों पर नाचते हुए भगवान श्री विश्वकर्मा की जय जयकार कर रहे थे। रथ यात्रा का समापन विश्वकर्मा धर्मशाला में आरती और महा प्रसादी के साथ हुआ। चल समारोह के दौरान नगर के वरिष्ठ समाज जन तुलसीराम कर्मा का अशोक शर्मा ने स्वागत किया। इस अवसर पर समाज के कई सदस्य महिला पुरुष और युवा साथी उपस्थित थे।

नगर के श्री हिंगलाज माता मंदिर में 1 सप्ताह से चल रहे अखंड हरे राम हरे कृष्ण कीर्तन का देर शाम को समापन हुआ। नगर के सोमवंशी क्षत्रिय समाज के श्रद्धालु बीते 1 सप्ताह से मंदिर परिसर में हरे राम हरे कृष्ण संकीर्तन की धुन संगीत में रूप से की जा रही थी। हरे राम हरे कृष्ण कीर्तन के अवसर पर मंदिर में भगवान पंढरीनाथ जी की फोटो की पूजा करने के बाद मंदिर में देवी श्री हिंगलाज माता का भी पूजा किया गया। समाज जनों ने भगवान की महा आरती करने के बाद प्रसाद बांटा। इस अवसर पर बड़ी संख्या में श्रद्धालु मौजूद थे।

हरे राम हरे कृष्ण का किया कीर्तन
हरे राम हरे कृष्ण का किया कीर्तन
खबरें और भी हैं...