पूर्व विधायक का बेटा हारा:सबसे बड़ी पंचायत में 22 साल के सालकराम बने सरपंच

खरगोन2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

जिले की सबसे बड़ी ग्राम पंचायत धूलकोट में 22 साल के सालकराम चेतराम किराड़े 3310 वोटों से विजयी रहे। सालकराम 12वीं पास है और खेती करते है। पंचायत में 11 हजार मतदाता है। सरपंच के लिए 11 उम्मीदवार मैदान में थे। मतगणना पर दूसरे नंबर पर बलिराम सोलंकी को 1600 वोट मिले हैं।

जबकि भगवानपुरा के पूर्व विधायक व भाजपा के वरिष्ठ नेता जमनासिंह सोलंकी के बेटे नेपालसिंह को 959 वोट ही मिले हैं। तीनों जनपद में सालकराम सबसे युवा है। सालकराम तीन साल से सक्रिय है। उसकी कोई राजनीतिक पृष्ठभूमि नहीं है। वह कमजोर व गरीबों की आवाज लगातार उठाते रहे हैं। राशन दुकानों में अनाज बेचने व सोसायटी में गड़बड़ी की शिकायतें की थी।

खबरें और भी हैं...