• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Khargone
  • Case Not Registered Against BJP District General Secretary, Sub Engineer And Suspended Secretary Even After A Week

कन्यादान विवाह योजना में अवैध वसूली:भाजपा जिला महामंत्री, सब इंजीनियर व सस्पेंड सचिव पर एक सप्ताह बाद भी केस दर्ज नहीं

खरगोन2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

जिले में मुख्यमंत्री कन्यादान योजना में अपात्रों को लाभ दिलाने व अवैध वसूली के मामले में जांच के बाद छह लोगों पर शिकायत दर्ज हुई है। जबकि भाजपा के जिला महामंत्री, भाजपा नेता, सस्पेंड सचिव, सब इंजीनियर सहित अन्य लोगों पर एफआईआर दर्ज नहीं हुई है। जांच में सभी पर एक जैसे आरोप लगे थे।

इसके बावजूद अब तक एफआई नहीं हुई है। अफसरों का कहना है कि जांच चल रही है। उधर, जिन पर एफआईआर हुई है उन लोगों के परिजनों का कहना है कि भाजपा के लोगों को बचाया जा रहा है। सभी पर एक जैसे आरोप है तो फिर एफआईआर में दोहरा रवैया क्यों। उधर, अफसरों का कहना है कि मामले में संबंधितों पर जांच चल रही है।

जिले में 1 से 21 मई के बीच हुए कन्यादान विवाह योजना में कई लोगों ने वर वधु से 11 से 22 हजार रुपए तक लिए हैं। साथ ही किसी को धमकाया तो किसी की फर्जी तरीके से शादी कराई है। शिकायत के बाद डिप्टी कलेक्टर ओमनारायसिंह व नपा सीएमओ प्रियंका पटेल ने जांच की। जांच रिपोर्ट कलेक्टर कुमार पुरुषोत्तम को दी गई।

इसके बाद एक सप्ताह पहले खरगोन में कदवाली के शिक्षक रोहित मनाग्रे, भानूश्री दीक्षित, विजय कोचले, दिनेश, पीसीओ भगवानपुरा नरेंद्र बड़ोले व श्यामलाल उपाध्याय पर केस दर्ज किया है। इसमें धारा 420, 384 और 34 के तहत एफआईआर दर्ज की है। मामले में भिलाला आदिवासी समिति के अध्यक्ष व भाजपा जिला महामंत्री महिम ठाकुर ने पैम्पलेट में फोटो छपवाकर वर वधु से 11-11 हजार रुपए लिए हैं।

इसकी पुष्टि पीड़ितों ने बयानों में की है। साथ ही रिटायर समन्वयक अधिकारी अनारसिंह सोलंकी ने कहा कि बड़वाह समिति अध्यक्ष महिम ठाकुर है। उन्होंने 30 जोड़ों का विवाह में वर व वधु पक्ष से 11-11 हजार रुपए लिए हैं।

गलत तरीके से आवेदन मान्य करवाने वालों की भी जांच
योजना में गलत तरीके से फर्जी या कमी वाले आवेदनों को मान्य करवाने वाले अफसरों व कर्मचारियों की भी जांच चल रही है। जिले में बड़वाह, गारी गलतार, खरगोन, कसरावद व महेश्वर में सामूहिक आयोजन थे। इनकी जांच की जा रही है।

जांच कर रहे हैं
मामले में अन्य लोगों की जांच की जा रही है। जांच के बाद ही कार्रवाई होगी। विवाह आयोजन क्षेत्र के कारण उनके स्थानीय थाने में केस दर्ज होगा।
-ओमनारायणसिंह बड़कुल, जांच अधिकारी व डिप्टी कलेक्टर

खबरें और भी हैं...