नेशनल लोक अदालत:बिजली, बैंक, जलकर आदि मामलों के हुए निराकरण

खरगोन13 दिन पहले

जिले में शनिवार को आयोजित नेशनल लोक अदालत में प्रीलिटिगेशन और राजीनामा योग्य न्यायालयीन लंबित प्रकरणों का लोक अदालत में निराकरण हुआ। प्रधान जिला न्यायाधीश और जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के अध्यक्ष डीके नागल के मार्गदर्शन में जिला न्यायालय मंडलेश्वर सहित तहसील न्यायालय खरगोन, बड़वाह, सनावद, भीकनगांव, कसरावद एवं महेश्वर पर नेशनल लोक अदालत का आयोजन हुआ।

नेशनल लोक अदालत में न्यायालयीन लंबित प्रकरणाें में से राजीनामा योग्य आपराधिक मामले, सिविल मामले, पारिवारिक विवाद, कुटुम्ब न्यायालय के मामले, विद्युत, श्रम, मोटर दुर्घटना दावा, अपीले आदि के मामले रखे गये हैं एवं बैंक, जलकर, विद्युुत आदि के प्रीलिटिगेशन के रखे गए मामलो का निराकरण हुआ। नेशनल लोक अदालत में विद्युत के प्रीलिटिगेशन एवं लंबित प्रकरणाें के निराकरण पर निम्न दाब श्रेणी के चयनित श्रेणी उपभोक्ताआें के लिए विशेष छूट घोषित की ग‌ई है। इसी प्रकार नगर पालिका जलकर के मामलाें में कर तथा अधिभार की राशि अनुसार अधिभार में 50 से लेकर 100 प्रतिशत तक की छूट एवं संपत्ति कर के मामलाें में कर तथा अधिभार की राशि अनुसार अधिभार में 25 से लेकर 100 प्रतिशत तक की छूट नियमानुसार एक बार प्रदान की गई।

इसी के साथ बैंको द्वारा विभिन्न योजनाओं के अंतर्गत ब्याज, अधिभार आदि में छूटे प्रदान की गई। इसी प्रकार लोक अदालत के माध्यम से निराकरण पर प्रक्रिया अनुसार न्यायशुल्क भी वापसी योग्य हैं एवं चेक बाउंस के प्रकरणाें में राजीनामा होने पर नियमानुसार लगने वाले अतिरिक्त राजीनामा परिव्यय राशि में भी न्यायालय द्वारा विवेक अनुसार छूट प्रदान की गई हैं। नेशनल लोक अदालत में विद्युत, बैंक, नगर पालिका आदि के प्रीलिटिगेशन प्रकरणाें के निराकरण के लिए प्रत्येक जिला एवं तहसील न्यायालय स्तर पर जिला न्यायाधीश तथा मजिस्ट्रेट स्तरीय खण्डपीठ का गठन किया गया। जिले में कुल 17 खण्डपीठें गठित की गई। नियमित न्यायालयीन लंबित प्रकरणाें के लिए पृथक से न्यायालय वार 27 खण्डपीठें गठित की गई।