निजी चिकित्सालय व नर्सिग होम्स का निरीक्षण:सनावद के 6 निजी चिकित्सालयों का पंजीयन किया निरस्त

खरगोन2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

खरगोन। जिले के समस्त निजी चिकित्सालय, निजी नर्सिग होम जनसमुदाय को दी जा रही स्वास्थ्य सेवाओ की गुणवत्ता एवं मानक अनुरूप स्वास्थ्य संस्थाओं उपलब्ध मानव संसाधनो, उपकरणों एंव निर्धारित शर्ते मापदंड अनुरूप स्वास्थ्य संस्थाओं का संचालन किया जा रहा है अथवा नहीं। इस बात की पुष्टि के लिए संचालनालय मप्र शासन लोक स्वास्थ्य एंव परिवार कल्याण विभाग भोपाल से प्राप्त निर्देश अनुसार मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी द्वारा 4 सदस्यों का जांच दल गठन किया गया। गठित दल को जिले के समस्त निजी चिकित्सालय/नर्सिग होम का निरीक्षण किया जाने के लिये निर्देशित किया गया। संबंधित जांच दल द्वारा जिले के समस्त निजी चिकित्सालयों का निरीक्षण किया। निरीक्षण के पश्चात जांच प्रतिवेदन मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को प्रस्तुत किये गये। जिनके आधार पर सीएमएचओ डॉ. डीएस चौहान ने 11 निजी स्वास्थ्य संस्थाओं के पंजीयन निरस्त किये। पूर्व में 5 निजी स्वास्थ्य संस्थाओं का पंजीयन निरस्त किए गए थे।

इन निजी चिकित्सालयों के पंजीयन हुए निरस्त

सीएमएचओ डॉ. चौहान ने सोमवार को 6 निजी चिकित्सालयों के पंजीयन निरस्त किये गए हैं। निजी चिकित्सालयों व निजी नर्सिंग होम को दिए गए नोटिस का प्रतिउत्तर संतोषजनक एवं नियमानुसार नहीं पाये जाने की दशा में पंजीयन निरस्त किए हैं। इन स्वास्थ्य संस्थाओं में नाथुलाल मोरी हॉस्पिटल पिरानपीर रोड़ सनावद जिला खरगोन, सिद्धी विनायक हास्पिपटल एंड रिसर्च सेन्टर, वार्ड नं. 15 जवाहर मार्ग सनावद, गुर्जरश्री हॉस्पिटल 522/140 वार्ड नं. 16 बाहेती कालोनी जवाहर मार्ग सनावद, हॉलीक्रास हास्पिटल खरगोन रोड़ सनावद, श्रीसांई हॉस्पिटल 01 न्यू जैन कॉलोनी सनावद तथा नर्मदा हॉस्पिटल इन्दौर रोड़ सनावद जिला खरगोन का पंजीयन निरस्त किया है।

खबरें और भी हैं...