खरगोन पहुंचे कृषि मंत्री कमल पटेल:बोले- हम सौभाग्यशाली हैं, जो हम 211 बेटियों का कन्यादान कर रहे हैं

खरगोन9 दिन पहले

कसरावद में शनिवार को कृषि उपज मंडी में मुख्यमंत्री सामूहिक कन्या विवाह योजना के अंतर्गत सामूहिक कन्या विवाह में कृषि व जिले के प्रभारी मंत्री कमल पटेल शामिल हुए। उन्होंने संबोधित करते हुए कहा कि हम बहुत सौभाग्यशाली हैं जो हम एक नहीं बल्कि 211 कन्याओं का कन्यादान कर रहे हैं। इसलिए हम सब भी सौभाग्यशाली हैं जो एक बार में इतनी बेटियों का कन्यादान कर रहे हैं। प्रभारी मंत्री पटेल ने नवविवाहितों को आशीर्वाद दिया और अपने संबोधन में कहा कि बेटी को अभिशाप नहीं बल्कि वरदान समझे। धीरे-धीरे ही सही लेकिन प्रदेश में बेटियों के प्रति माता-पिता की सोच बदलती जा रही है। इसमें मप्र शासन की योजनाओं का बड़ा ही योगदान है। चाहे वो सामूहिक कन्या विवाह योजना हो या लाड़ली लक्ष्मी योजना हो कहीं न कहीं अभिभावकों के लिए यह योजनाएं लाभ पहुंचा रही है।

मंत्री पटेल ने सामूहिक कन्या विवाह की आधारशिला या शुरुआत होने के पीछे के मूल भाव के बारे में बताया। उन्होंने कहा कि जब मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पहली बार विधायक बने थे। तब उन्होंने अपने गांव जैत में ही एक गरीब कन्या को गोद लिया था और उसका विवाह किया था। फिर 4 तो कभी 5 ऐसे सामूहिक कन्या विवाह होने लगे। लेकिन जब वे मुख़्यमंत्री बने तब प्रदेश शासन ने ऐसे सामूहिक विवाह आयोजन के लिए एक परिपक्व योजना बनाई। जो आज मुख्यमंत्री सामूहिक कन्या विवाह योजना के नाम से जानी जाती है। इस योजना में अब 55 हजार रुपये प्रति कन्या के विवाह में शासन द्वारा दिए जाते हैं। 11 हजार रुपये का चेक कन्या को आशीर्वाद के रूप में 38 हजार रुपये की राशि से गैस टंकी, चूल्हा, बिस्तर व अन्य घरेलू सामग्री के तौर पर दिए जाते हैं। बाकी 6 हजार रुपये आयोजन पर खर्च होते हैं। इसमें भोजन, टेंट व अन्य व्यवस्थाओं पर खर्च किए जाते हैं। सामूहिक विवाह सम्मेलन में सांसद गजेंद्र पटेल, विधायक सचिन यादव एवं पूर्व विधायक आत्माराम पटेल ने भी संबोधित किया।