घुघरी में विरोध प्रदर्श:आदिवासियों की हत्याओं और आदि उत्सव के विरोध में कांग्रेस ने किया प्रदर्शन

मंडला14 दिन पहले

शनिवार को आदिवासियों की हत्याओं और आदिउत्सव के विरोध में बिछिया विधायक नारायण सिंह पट्टा व जिला कांग्रेस अध्यक्ष राकेश तिवारी के नेतृत्व में घुघरी में विरोध प्रदर्शन किया गया। कांग्रेस अध्यक्ष राकेश तिवारी ने कहा कि प्रदेश में आदिवासियों का उत्पीड़न चरम पर पहुंच गया है।

जिस तरह से एक षड्यंत्र के साथ आदिवासियों की हत्याओं को अंजाम दिया गया है, उससे लगता है कि भाजपा सरकार ने आदिवासियों की हत्याओं की खुली छूट दे दी है। सिवनी के कुरई में बजरंगदल और हिन्दू संगठनों ने जिस तरीके से दो आदिवासियों की हत्या की है। उसपर सरकार को शोक और संवेदना प्रकट करने के बजाय आदि उत्सव मनाकर खुशियां मना रही है।

निवास विधायक डॉक्टर अशोक मर्सकोले ने कहा कि आदिवासियों को षड्यंत्र पूर्वक फसाना और मारना भाजपा का मुख्य काम बन गया है। हमने सिवनी जाकर पीड़ित परिवारों से मुलाकात की और उनकी पीड़ा को समझा लेकिन आदिवासियों के नाम से मंत्री और सांसद का पद पाने वाले सांसद आज अपने समाज के लोगों के ही साथ खड़े नहीं है, आरोपियों को बचाने के लिए खड़े हैं। अब कांग्रेस पार्टी हर लड़ाई लड़ने के लिए तैयार है।

युवक कांग्रेस ने किया पुतला दहन

इस विरोध प्रदर्शन में युवक कांग्रेस विधानसभा बिछिया के अध्यक्ष विकास साहू के नेतृत्व में युवाओं ने सिवनी की घटना के विरोध में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, प्रभारी मंत्री बिसाहुलाल सिंह व सांसद कुलस्ते का पुतला दहन किया और जोरदार नारेबाजी की।

हम शूरवीरों के वंशज हम डरते नहीं लड़ते हैं

बिछिया विधायक नारायण सिंह पट्टा ने कहा कि भाजपा-आरएसएस न तो संविधान को मानते हैं और न ही आदिवासियों के स्वतंत्र अस्तित्व को इसलिए आदिवासियों के स्वतंत्र वजूद को ये खत्म करना चाहते हैं। सिवनी में 3 मई की रात आदिवासियों की हिन्दू संगठनों के लोगों ने पीटकर हत्या कर दी। ये पहले से षड्यंत्र पूर्वक सोच-समझ से की गई हत्या है, जिसका उद्देश्य हम आदिवासियों को डराने का है।

उन्होंने कहा अपने आदिवासी समाज के हक अधिकार की लड़ाई के साथ सबकी रक्षा की जबाबदारी हमारी है और हम अपनी जबाब दारी के साथ मैदान में उतर चुके हैं।

खबरें और भी हैं...